मास्टर ब्लास्टर सचिन ने दिया विराट को गुरु मंत्र

Please follow and like us:

नई दिल्ली (खबर संसार)
इंग्लैंड के खिलाफ भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली तो शानदार फॉंर्म के नजर आ रहे है। लेकिन टीम के बाकी बल्लेबाजों का प्रदर्शन निराशाजनक रहा। इसकी वजह से टीम को लेकर विराट की चिंता होना स्वाभाविक है। इसी को लेकर मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने विराट को एक गुरु मंत्र दिया है। विराट को लेकर सचिन ने कहा कि वो अपना टीम में आपना रोल अच्छे से निभा रहे हैं और सचिन के मुताबिक कोहली की बाकी कोई और चिंता छोड़कर सिर्फ अपने दिल की सुनने को कहा है। आपको बता दें कि सचिन ने 24 साल के अपने करियर में कई बार पूरी टीम का जिम्मा उठाया है और कोहली को भी इन दिनों कुछ ऐसा ही करना पड़ रहा है। तेंदुलकर ने कोहली के लिए कहाए ष्अपना काम जारी रखो। वो बेहतरीन भूमिका निभा रहा है इसलिए इसे बरकरार रखो। आपके आसपास क्या हो रहा है उसकी चिंता मत करो। आप जो हासिल करना चाहते हो उस पर अपना ध्यान केंद्रित रखो और अपने दिल की सुनो। हाल ही में हुए इंग्लैंड के साथ पहले मैच में भारतीय बल्लेबाजों का प्रदर्शन अच्छा नहीं था। पहली पारी में भारत ने 274 रन बनाए थे जिसमें से विराट के बल्ले से 149 रन थे। इस पारी में विराट के अलावा कोई भी बल्लेबाज 26 रन से ज्यादा नहीं बनाया पाया था। हालांकि टीम के गेंदबाजों ने दोनों पारियों में अच्छी बल्लेबाजी की लेकिन बल्लेबाजों ने दोनों पारियों में कोहली को निराशा ही दी। चौथी पारी में जब टीम इंडिया बल्लेबाजी करने के लिए मैदान पर उतरी तो टीम के सामने 194 रनों का लक्ष्य था। भारतीय टीम के फैंस के साथ साथ सभी को ऐसा लग रहा था कि इस मैच में टीम इंडिया जीत दर्ज कर लेगी। लेकिन सबकी उम्मीदों पर पानी फेरते हुए टीम के बल्ले बाजों ने अपने खराब खेल को बरकारा रखा। इसके कारण पूरी टीम का दारोमदार एक बार फिर विराट के कंधों पर आगया था। इस पारी में विराट ने 51 रन बनाए थे। जब विराट मैदान पर बल्लेबाजी करने आए थे उस समय टीम 22 रन पर अपने 2 विकेट गंवा चुकी थी। इस बाद भी विराट एक छोर पर खड़े रहे और दूसरे छोर से बाकी बल्लेबाज इंग्लैंड के गेंदबाजों का खिकार बनते रहे। मैच के चौथे दिन 141 रनों पर विराट का विकेट गिरने के बाद टीम सिर्फ 21 रन और बना पाई। इस मैच में भारत को 31 रनों के हार का सामना करना पड़ा था।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *