तेल गैस क्षेत्रों की नीलामी का दूसरा चरण शुरू

Please follow and like us:

नई दिल्ली (खबर संसार)
भारत ने आज खोज किए जा चुके 25 तेल एवं गैस फील्ड को नीलामी के लिए रखा। इसमें एक लाख करोड़ रुपये का संसाधन होने का अनुमान है। इस कदम से उन क्षेत्रों से उत्पादन में तेजी की उम्मीद है जो वर्षों से निष्क्रिय पड़ा रहा है। पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने खोजे गए छोटे फील्डों, डीएसएफ के दूसरे दौर की नीलामी की शुरुआत करते हुए कहा कि सरकार इन फील्डों से उनके जीवनकाल में रायल्टीए कर और पेट्रोलियम लाभ के रूप में 45,000 करोड़ रुपये की उम्मीद कर रही है। कुल 59 खोज को 25 अनुबंध क्षेत्रों में रखा गया गया है। ये 3,042 वर्ग किलोमीटर और 8 अवसादी बेसिन क्षेत्रों में फैले है। बोली की आखिरी तारीख 18 दिसंबर है और इसे जनवरी 2019 में आबंटित किए जाएंगे। उन्होंने कहा डीएसएफ. एक दौर में 34,600 करोड़ रुपये के संसाधन के लिये बोलियां मंगाई गई। डीएसएफ 2 में जिन फील्डों की पेशकश की गई है उसमें एक लाख करोड़ रुपये का संसाधन है। खोजे गए इन छोटे फील्ड के लिए पिछले साल पहले दौर की नीलामी में रखे गए कुल 46 ब्लाक में से 34 ब्लाक के लिए 134 बोलियां प्राप्त हुई थी। प्रधान ने कहा कि मोदी सरकार डीएसएफ.1 में बोली के लिए रखे गए फील्डों से 9,000 करोड़ रुपये के राजस्व की उम्मीद कर रही है। इनसे तेल 2020 में मिलने की उम्मीद है। डीएसएफ.2 85,000 रोजगार भी सृजित करेगा। सरकार की 26 अनुबंध क्षेत्रों में रखे गए कुल 60 खोजे गए क्षेत्रों के लिए बोली आमंत्रित करने की योजना थी लेकिन इसे बाद में घटाकर 25 अनुबंध क्षेत्रों में रखे गए 59 क्षेत्र किया गया। हालांकि इसका कोई कारण नहीं बताया गया। ये क्षेत्र राजस्थान, गुजरात, कच्छ और कैम्बे के उथले जल क्षेत्र, मुंबई अपतटीय, असम और त्रिपुरा व महानदी उथले जल क्षेत्र, आंध्र प्रदेश तथा केजी बेसिन में स्थित है। हाइड्रोकार्बन महानिदेशालय के महानिदेशक वी पी जॉय ने कहा किडीएसएफ.दो में परंपरागत और गैर परंपरागत हाइड्रोकार्बन के लिए सिंगल लाइसेंस, तकनीकी अनुभव की पूर्व शर्त को हटाना पूर्ण कीमत और विपणन की आजादी जैसी मुख्य विशेषताएं हैं। साथ ही डीएसएफ. एक के मुकाबले अपतटीय रायल्टी दर 10 फीसदी से घटाकर 7.5 फीसदी किया गया है। सरकार 2016 में नई डीएसएफ पालिसी लाई थी। इसके अंतर्गत सार्वजनिक क्षेत्र की ऑयल एंड नेचुरल गैस कारपोरेशन, ओएनजीसी और ऑयल इंडिया लिमिटेड, ओआईएल के निष्क्रिय पड़े छोटे खोजे गए फील्डो की नीलामी उदार शर्तों पर की जा रही है।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *