मोदी सरकार का बड़ा एलान राखी और मूतिüयों पर नहीं लागू होगा जीएसटी

Please follow and like us:

नई दिल्ली (खबर संसार)
रक्षाबंधन का त्योहार भाई-बहन के प्यार का प्रतीक है। रेशम की डोर से भाईयों को बांधने वाला यह त्योहार आने वाला है। रक्षाबंधन और गणेश चतुथीü त्योहार पर केंद्र सरकार ने देशवासियों को बड़ी सौगात दी है। सरकार ने ऐलान किया है कि राखी को जीएसटी दायरे से बाहर रखा जाएगा जिससे रक्षाबंधन पर ग्राहकों की जेब पर भार नहीं पड़ेगा। यानि सरकार राखी पर जीएसटी नहीं लेगी। दरअसल ये दिन होता ही कुछ ऐसा है जहां सब अपने गिले-शिकवे भुला देते हैं। इस त्योहार को पूरे देशभर में बेहद धूमधाम से मनाया जाता है। इस मौके पर बहनें भाइयों की दाहिनी कलाई में राखी बांधती हैं। केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि रक्षा बंधन आने वाला है हमने राखी पर से जीएसटी की छूट दी है। इसके अलावा सरकार ने गणेश चतुथीü से पहले सभी प्रकार की मूतिüयों हस्तशिल्प हथकरघा को भी जीएसटी से मुक्त रखा है। उन्होंने कहा कि त्योहारी मौसम में इनसे जुड़ी चीजों पर से जीएसटी की छूट मिलना लोगों के लिए बड़ी राहत है। ये सभी चीजें हमारी विरासत हैं इसे सम्मान के साथ इन्हें रखना है। सरकार के इस कदम से लोगों के पॉकेट पर ज्यादा बोझ नहीं पड़ेगा। उन्होंने कहा कि जीएसटी लागू कराना सरकार का ऐतिहासिक हिम्मतभरा कदम है। बड़े-बड़े देश कर सुधार के ऐसे साहसिक फैसले लेने से पहले डरते हैं। लेकिन हमारी सरकार ने हिम्मत दिखाई और इसे लागू किया। आपको बता दें कि देश में रक्षाबंधन इस साल 26 अगस्त और गणेश चतुथीü 13 सितंबर को मनाया जाएगा। बाजारों में अभी से रक्षाबंधन के लिए तरह-तरह की राखियों की दुकान अभी से देखने को मिल रही है। सरकार ने इससे पहले भी सैनेटरी नैपकिन को जीएसटी के दायरे से हटाने के फैसले से महिलाओं को बड़ी राहत दी थी। पहले सैनेटरी नैपकिन पर 12 फीसदी का जीएसटी लगता था। महिलाओं के लिए हेयर ड्रायर परफ्यूम हैंड बैग ज्वैलरी आदि वस्तु पर लगने वाले 28 फीसदी जीएसटी स्लैब से 18 फीसदी जीएसटी स्लैब में कर दिया।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *