एयर इंडिया के पायलटों ने कंपनी प्रबंधन को दी चेतावनी

Please follow and like us:

नई दिल्ली (खबर संसार)
एयर इंडिया के पायलटों ने कंपनी को चेतावनी दी है कि अगर उन्हे बकाया फ्लाइंग अलाउंस नहीं दिया गया तो वो काम करना बंद कर देंगे। अभी एयर इंडिया ने लगातार पांचवें महीनें की सैलरी भी पायलटों को देरी से दी है। पायलटों की कमाई में बड़ा हिस्सा भत्तों का भी होता है। इस पूरे मामले पर पायलटों का कहना है कि उनकी कमाई में सैलरी का हिस्सा 30 फीसदी होता है और बड़ा हिस्सा इस भत्ते का होता है मतलब कि फ्लाइंग अलाउंस का और उन्हें इस अलाउंस का भुगतान अब किया जा रहा है। ये नियमों के एकदम विरुध है। नियमों के मुताबिक उन्हें जून के फ्लाइंग अलाउंस अगस्त तक मिल जाने चाहिए थे लेकिन उन्हें अभी तक दिए नहीं गए है। सरकार के हिस्सेदारी बेचने के प्रयास के निफल रहने के बाद एयर इंडिया की बैठक हुई। ये बैठक ऐसे समय में हुई है जब सरकार एयर इंडिया को वित्तिय पैकेज देने पर सोच विचार कर रही है। विमानन नियामक डीजीसीए ने दिल्ली हाईकोर्ट से कहा है कि विमानन कंपनियां हवाई यात्रा के लिए अनुचित किराया नहीं वसूल रही हैं। टिकट की कीमतों में बदलाव बाजार की ताकतों के मुताबिक ही होता है। विमानन नियामक के एक जनहित याचिका पर सुनवाई के दौरान हलफनामे में अपनी राय रखी और कहा कि हवाई किराए के बारे में उसे नियम बनाने का अधिकार नहीं है। बता दें कि देश की दो एयरलाइन कंपनियों एयर इंडिया और जेट एयरवेज की आर्थिक हालत इस समय कुछ ठीक नहीं है। हाल ही में एयर इंडिया के पायलटों ने मैनेजमेंट से ऐसा सवाल किया जिसने एयर इंडिया में यात्रियों की सुरक्षा पर ही सवालिया निशान खड़ा कर दिया है। एयर इंडिया के पायलटों के संगठन इंडियन कमर्शल पायलट्स असोसिएशन ने मैनेजमेंट से पूछा कि क्या क्या हमारी एयरलाइन सेफ है क्या हमारी एयरलाइन सेफ है पायलटों की ओर से पूछा गया यह सवाल इसलिए भी हैरानी भरा था क्योंकि ठीक एक दिन पहले यानी कि गुरूवार के दिन अप्रैल-जून तिमाही के नतीजे आए हैं। तमाही के नतीजों में जेट एयरवेज का परफॉर्मेंस कुछ अच्छा नहीं था और बीते कुछ दिनों में उसके शेयरों में 12 पर्सेंट तक की गिरावट आई है।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *