पीएम के पत्र को लेकर पाकिस्तान ने बोला बड़ा झूठ भारत ने किया खारिज

Please follow and like us:

नई दिल्ली (खबर संसार)
पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्र इमरान खान के शपथ ग्रहण के कुछ देर बाद ही उनके विदेश मंत्री ने कारनामा करना शुरू कर दिया। एक न्यूज चैनल से बातचीत के दौरान हाल ही में नियुक्त पाकिस्तान के विदेशमंत्री
एसएम कुरैशी ने कहा कि भारत के नरेंद्र मोदी ने इमरान खान को पत्र लिख कर बधाई दी है और दोनों देशो के बीच फिर से बातचीत शुरू करने की इच्छा जताई है। खबर मिलते ही तत्काल ही प्रधानमंत्री के कार्यालय ने इसका खंडन किया और बताया कि पीएम मोदी ने इमरान को महज प्रधानमंत्री बनने पर बधाई दी थीए उसमें फिर से वार्ता शुरू करने वाली बात नहीं थी। आधिकारिक सूत्रों ने जानकारी दी कि प्रधानमंत्री ने इमरान खान को पत्र भेजा जिसमें उन्होंने कहा है कि भारत पाकिस्तान के साथ शांतिपूर्ण पड़ोसी रिश्तों के लिए प्रतिबद्ध है। पत्र में मोदी ने कहा कि भारत पड़ोसी पाकिस्तान के साथ सकारात्मक और सार्थक साझेदारी के लिए आशान्वित है। उन्होंने आतंकवाद मुक्त दक्षिण एशिया के लिए काम करने की जरूरत पर भी जोर दिया। इससे पहले पाकिस्तान के नवनिर्वाचित प्रधानमंत्री इमरान खान ने राष्ट्र के नाम अपने पहले संबोधन में पड़ोसी देशों से रिश्ते सुधारने की बात कही। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को अपने सभी पड़ोसियों के साथ बेहतरीन संबंध रखने की दिशा में काम करना होगा क्योंकि इसके बिना देश में शांति लाना संभव नहीं होगा। देश के 22वें प्रधानमंत्री के तौर पर शपथ लेने के बाद राष्ट्र के नाम करीब एक घंटे लंबे भाषण में खान ने आर्थिक मोर्चे पर पाकिस्तान को आने वाली चुनौतियों को चिह्नित किया और मितव्ययता लाने के लिए व्यापक सुधार करने तथा मंद अर्थव्यवस्था में फिर से जान फूंकने का वादा किया। पाकिस्तान तहरीक.ए.इंसाफ के प्रमुख ने मौजूदा ऋण संकट के लिये पूर्ववर्ती पीएमएल.एन सरकार पर हमला बोला जो बढ़कर 28,000 अरब रुपये हो गया है। उन्होंने कहा कि अपने समूचे इतिहास में देश इतना ऋणग्रस्त कभी नहीं रहा जितना पिछले 10 साल में हो गया है।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *