एक बार फिर राज्य का नाम रोशन किया

Sharing is caring!

हल्द्वानी (खबर संसार)

रविवार सुबह को मुनस्यारी के लवराज ने एवरेस्ट पर कदम रखते ही नया कीर्तिमान स्थापित कर दिया। माउंट एवरेस्ट पर लवराज ने सातवीं बार तिरंगा फहराने में सफलता हासिल की है। यह उपलब्धि हासिल करने वाले लवराज पहले भारतीय पर्वतारोही बन गए हैं। मुनस्यारी के करीब मदकोट शहर से 10 किलोमीटर दूर बौना गांव के निवासी 46 वर्षीय लवराज सिंह बीएसएफ में असिस्टेंट कमांडेंट हैं। मई 2017 में लवराज धर्मशक्तू ने छठी बार एवरेस्ट में चढ़कर इतिहास रचा है। अब एक साल बाद लवराज ने अपने ही रिकॉर्ड को तोड़कर नया कीर्तिमान स्थापित कर लिया है। माउंट एवरेस्ट को फतह करने के 10वें सफर में बीएसएफ की 15 सदस्यी टीम को लेकर निकले लवराज धर्मशक्तू ने सातवीं बार दुनिया की सबसे ऊंची चोटी पर कदम रखने में सफलता हासिल की है। बीएसएफ की टीम को 20 मार्च को खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने फ्लैगऑफ किया गया था। अप्रैल पहले सप्ताह में टीम भारत से नेपाल को निकली। दो दिन काठमांडू में रुकने के बाद टीम अप्रैल के दूसरे सप्ताह में एवरेस्ट के मुख्य बेसकैंप के लिए रवाना हुई थी। बीते 19 मई को लवराज धर्मशक्तू बीएसएफ की टीम के पहले बैच के सदस्य प्रवीन, प्रवीन कुमार, प्रीतम, विकास सिंह, आसिफ जान के साथ 8 हजार मीटर की ऊंचाई पर स्थित एवरेस्ट के अंतिम बेस कैंप साउथ कोल पर थे। रात करीब 10 बजे के बाद लवराज की अगुवाई में टीम के सदस्यों ने एवरेस्ट की अंतिम चढ़ाई शुरू की। रात में 9 घंटे की चढ़ाई के बाद रविवार सुबह 6.50 बजे लवराज ने एवरेस्ट पर कदम रखे। यहां से आधे घंटे तक रहने के बाद टीम बेस कैंप उतर गई थी।

Please follow and like us:
0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *