जुलूस इत्यादि के लिए परमिशन ले प्रत्याशी. सुमन

Please follow and like us:
हल्द्वानी l खबर संसार l
जिला निर्वाचन अधिकारी विनोद कुमार सुमन ने बुधवार को अपने शिविर कार्यालय में सभी रिटर्निंग ऑफिसर एवं सहायक रिटर्निंग ऑफीसरों के साथ महत्वपूर्ण बैठक लेते हुए है कहा कि नामांकन प्रपत्रों की जांच यानी  स्क्रूटनी का काम बहुत ही सावधानी और पारदर्शिता के साथ किया जाए। उन्होंने कहा की नामांकन पत्रों की जांच की कार्यवाही की वीडियो रिकॉर्डिंग भी कराई जाए, इसके साथ ही नामांकन पत्रों की विधिवत जांच आयोग द्वारा निर्धारित निर्देशों के क्रम में गहनता से व नियमाुनसार की जाएं उन्होंने कहा कि सभी अधिकारियों की कोशिश होनी चाहिए कि किसी भी पात्र व्यक्ति का नामांकन निरस्त ना हो तथा अपात्रों का ही नामांकन निरस्त हो। श्री सुमन ने निर्देशित करते हुए कहा कि पत्रों की जांच के समय नामांकन करने वाले उम्मीदवारों को भी बुलाया जाए ताकि पारदर्शिता बनी रहे, यदि किसी का नामांकन निरस्त हो रहा हो तो उस प्रत्याशी को अवश्य ही नामांकन निरस्त करने का स्पष्ट  कारण बताया जाए।  उन्होंने कहा कि स्क्रूटनी का काम पूरा होने तथा प्रतीक चिन्ह आवंटन के बाद ही उम्मीदवारों द्वारा प्रचार प्रसार, जनसुनवाई एवं जुलूस निकाले आदि का कार्य सम्बन्धित रिटर्निंग आफीसर की अनुमति लेकर किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जलूस एवं जन सभाओं के लिए सभी प्रत्याशियों को लिखित अनुमति लेनी होगी तथा आरओ लिखित आवेदन प्राप्त होने पर उम्मीदवारों को जुलूस एवं जनसभा करने की अनुमति प्रदान करेंगे। श्री सुमन ने कहा कि बिना अनुमति के जलूस एवं जनसभा किसी भी दशा में नहीं करने दी जाएंगी तथा ऐसा करने वाले प्रत्याशियों के खिलाफ नियमाुनसार कार्यवाही अमल में लाई जाएगी। श्री सुमन ने का कि नगर निगम हल्द्वानी में आरओ एवं सिटी मजिस्ट्रेट पंकज उपाध्याय अनुमति जारी करेंगे तथा शेष नगर पालिका एवं नगर पंचायतों में संबंधित आरओ द्वारा अनुमति जारी की जाएगी। उन्होंने सभी उम्मीदवारों से अपील की है की जुलूस एवं जनसभा आयोजित करने से पहले संबंधित आरओ से लिखित में अनुमति प्राप्त करें साथ ही इस दौरान आयोग के नियमों एवं धारा 144 का भी अनुपालन सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि निर्वाचन की आदर्श आचार संहिता प्रभावी है ऐसे में सभी उम्मीदवार और राजनीतिक दल आदर्श आचार संहिता का अनुपालन करें, यदि कोई भी आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करता है तो लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम के विभिन्न धाराओं में कार्यवाही अमल में लाई जाएगी। जिला निर्वाचन अधिकारी एवं जिलाधिकारी श्री सुमन ने जिले भर के अधिकारियों एवं कर्मचारियों को हिदायत देते हुए कहा कि निर्वाचन कार्य में लगे होने के कारण वर्तमान में सभी की सेवाएं भारत निर्वाचन आयोग के अधीन है ऐसे में कोई भी अधिकारी और कर्मचारी मुख्यालय से बाहर नहीं जाएगा, बिना अनुमति के मुख्यालय से बाहर रहने पर लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम की विभिन्न धाराओं में कार्यवाही की जाएगी। अतः सभी अधिकारी व कर्मचारी आगामी 20 नवंबर तक न तो मुख्यालय से बाहर जाएं और न ही अवकाश के लिए आवेदन करें। उन्होंने कहा कि विशेष परिस्थितियों में ही अवकाश देय होगा। उन्होंने कहा कि चुनाव ड्यूटी से बचने के लिए कोई भी कर्मचारी अनावश्यक मेडिकल न करें, ऐसी दशा में मेडिकल बोर्ड से आवेदक की जांच कराई जाएगी तथा गलत पाए जाने पर कड़ी कार्यवाही भी अमल में लाई जाएगी।   नगर निगम सभागार में आदर्श आचार संहिता के प्रभारी अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व बीएल फिरमाल ने सभी आरओ व एआरओ को आदर्श आचार संहिता के संबंध में महत्वपूर्ण बैठक कर आवश्यक दिशा निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्रतीक चिन्ह आवंटन के बाद प्रचार प्रसार प्रारंभ हो जाएगा, बहुत से प्रत्याशियों ने अभी से पोस्टर बैनर फ्लेक्सी लगाने व दीवारों पर लिखवाना शुरू कर दिए हैं, उन्होंने सभी आरओ से कहा कि वह अपने क्षेत्रों में लगाए गए सभी प्रचार सामग्री को तत्काल विशेष अभियान चलाकर हटाया जाना सुनिश्चित करें। उन्हें सभी उम्मीदवारों से कहा है कि वे अनावश्यक रूप से सरकारी संपत्ति एवं निजी संपत्ति पर प्रचार सामग्री न लगाएं। उन्होंने कहा कि प्रचार सामग्री हटाए जाने का खर्चा संबंधित प्रत्याशी से नियमानुसार वसूल किया जाएगा
Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *