आगे और बढ़ सकती है बैंक कर्मियों की हड़ताल!

Sharing is caring!

नई दिल्ली (खबर संसार)
राजधानी के ज्यादातर एटीएम खाली हो गए। इससे लोगों को रुपये निकालने के लिए प्राइवेट बैंकों का रुख करना पड़ा। इससे लोगों को ट्रांसएक्शन करने पर 17 रुपए से 19 रुपए तक का चार्ज भी देना पड़ा। ये वो बैंक धारक थे जो महीने में चार बार से अधिक ट्रांसएक्शन कर चुके हैं। सरकारी बैंकों के ज्यादातर एटीएम खाली मिले। किसी में कैश नहीं था तो कोई तकनीकी खराबी के कारण कम नहीं कर रहा था। सबसे ज्यादा असर एसबीआई, पीएनबी, यूनियन बैंक, केनरा बैंक के एटीएम पर पड़ा। इसके अलावा चेक क्लियरेंस, चेक जमा होने आदि से जुड़े सभी काम बंद रहे।
बताया जा रहा है कि उन नौकरी पेशा लोगों का वेतन भी इस हड़ताल के चलते एक या दो दिन की देरी से उनके बैंक खातों में आएगा। विशेषतौर से उन नौकरी पेशा लोगों को सबसे ज्यादा फर्क पड़ेगा जिनका वेतन 30 या 31 तक उनके खाते में आ जाता है। बता दें कि इंडियान बैंक्स एसोसिएशन (आईबीए) से वेतन बढ़ोतरी को लेकर बातचीत असफल होने के बाद बैंक कर्मचारियों ने दो दिन की हड़ताल करने का निर्णय लिया था। आईबीए ने बैंकों के कर्मचारियों के वेतन में केवल दो प्रतिशत की वृद्धि की पेशकश की है, जिसका बैंक कर्मचारी संघों ने विरोध किया। नेशनल ऑर्गनाइजेशन ऑफ बैंक वर्कर्स (एनओबीडब्ल्यू) के उपाध्यक्ष अश्वनी राणा के मुताबिक सभी बैंक कर्मचारियों ने मांग की है कि उनके वेतन में जल्द बढ़ोतरी की जाएं।
उन्होंने बताया कि अगर जल्द ही कर्मचारियों की मांगे नहीं मानी गई तो आने वाले समय में दोबारा से कर्मचारी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाएंगे। तब तक हड़ताल खत्म नहीं होगी जब तक सरकार कर्मचारियों की मांगे नहीं मानती।

Please follow and like us:
0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *