निगम की मिलीभगत से चल रही मैक्स

Sharing is caring!

काशीपुर। खबर संसार।

उत्तराखण्ड राज्य परिवहन निगम राज्य में लगातार घोटालों के लिए प्रसिद्व होता जा रहा है। जैसे कभी टायर घोटाला तो कभी परिचालको का टिकट घोटाला तो कभी डीजल चोरी घोटाला। इधर एक नया घोटाला सामने आया है। सूत्रो के अनुसार उत्तराखण्ड राज्य परिवहन निगम ने लिंक मार्गो और पहाड़ी रूटो पर बलेरो या मैक्स जीप का संचालन शुरू किया था । क्योकि ऐसे रूटों पर सवारी कम मिलती है और पहाड़ी रूटो पर मोड़ो पर बढ़ते एक्सीडेंटो को ये जीपे कुछ हद तक रोकने में सफल साबित हुई है। हलांकि इसमें सवारी करना रोडबेज की सामान्य बसो के मुकाबले कुछ ज्यादा किराया है । एक दूसरी बात इसमें रियायत मिले लोगो को इसकी सवारी का हक नही हासिल है इनके चालक परिचालक कहते है कि हमें टिकिट मशीन उपलब्ध नही कराई गई है। कैसे बैठाये। मैन्यूयली टिकिट काटना है। लेकिन इन जीपो का दुरूप्रयोग भी सामने आने लगा है। ये जीपे अपनी मनमर्जी से किसी भी रूट में चल रही है और इनपर लगाम नही लग पा रही है। तो दूसरी और इस तरह की जीपों पर लगाम लगाने के लिए तीन पर पकड़े जाने या कार्यवाही होने पर ऐसी जीपो को अनफिट या निगम से अनुबंध समाप्त कर दिया जाता है लेकिन कुछ जीपो पर निगम के अधिकारी मेहरवान लगते है। सूत्र बताते है कि काशीपुर डिपो की मैक्स जीप यूके 18 टीए 0485 का पाँच बार चलान हो चुका है लेकिन फिर भी सड़क पर सरपट दौड़ रही है सीधी से बात टैबल के नीचे से मिठाई गई होगी। सूत्र बता रहे है कि इस गाड़ी का 16 फरवरी 2018 के बाद 21 जनवरी 2018 फिर 21 जनवरी फिर 4 अप्रैल फिर 7 अप्रैल 2018 फिर 5 मई 2018 लेकिन अभी भी ये बेरोकटोक चल रही है। शायद इसे अधिकारियों का संरक्षण प्राप्त है।

Please follow and like us:
0

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *