इन कारणों से बढ़ता है वजन

खबर संसार |

हेल्दी रहने के लिए ही नींद पर्याप्त मात्रा में लेना आवश्यक नहीं है, बल्कि यह आपके वजन से भी जुड़ा हुआ है। जो लोग आठ घंटे से कम सोते हैं, उन्हें अत्यधिक मात्रा में भूख लगती है। दरअसल, कम सोने से भूख को दबाने वाला हार्मोन लेप्टिन बढ़ जाता है। दवाईयों का सेवन- चूंकि आजकल लगभग हर व्यक्ति किसी न किसी शारीरिक समस्या से ग्रस्त है और उस समस्या के निवारण के लिए लोग तरह−तरह की दवाईयों का सेवन भी करते हैं। लेकिन कभी−कभी कुछ दवाईयों जैसे स्टेयारड, बर्थकंट्रोल पिल्स, डायबिटीक दवाईयां व डिप्रेशन की दवाईयों के साइड इफेक्ट के रूप में वजन बढ़ना शुरू हो जाता है। इसलिए अगर आपको ऐसा लगता है कि किसी दवाई का लगातार सेवन करने से आप मोटापे की जद में आ रहे हैं तो एक बार डॉक्टर से संपर्क अवश्य करें। 

धूम्रपान छोड़ना-यह बात तो हम सभी जानते हैं कि धूम्रपान स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है और जितना जल्दी हो सके, इस आदत से निजात पा लेना चाहिए। लेकिन शायद आपको इस बात की जानकारी न हो लेकिन स्मोकिंग छोड़ने के बाद कुछ लोगों का वजन तेजी से बढ़ने लगता है। इस समस्या से बचने का एक आसान तरीका है कि जब भी आप स्मोकिंग को अलविदा कहें तो उसके साथ−साथ अपने आहार व व्यायाम पर पर्याप्त ध्यान दें ताकि वजन बढ़ने न पाए। इसके अतिरिक्त कई बार कुछ मेडिकल कंडीशन भी वजन बढ़ने की वजह बन जाती है। इस स्थिति में डॉक्टर से सलाह लेना बेहद आवश्यक है।
आवश्यकता से अधिक तनाव- वर्तमान समय में, तनाव हर किसी व्यक्ति के जीवन का हिस्सा बन चुका है। लेकिन अगर तनाव आवश्यकता से अधिक बढ़ जाए तो इससे कोर्टिसोल का स्तर भी बढ़ जाता है। एक स्टडी के मुताबिक, कोर्टिसोल का उच्च स्तर व फैट मास का आपस में गहरा नाता है। कोर्टिसोल नामक स्ट्रेस हार्मोन कई तरह की समस्याएं पैदा करने के साथ−साथ वजन भी बढ़ाने का काम करता है। इसलिए जहां तक संभव हो, स्ट्रेस फ्री रहने की कोशिश करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *