पुजारा दोहरे शतक से चूके

नई दिल्ली (खबर संसार)
भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चार मैचों की टेस्ट सीरीज का चौथा और आखिरी मुकाबला सिडनी में खेला जा रहा है। टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए टीम इंडिया ने विकेट के नुकसान पर 622 रन बनाकर पारी घोषित कर दी है। ऋषभ पंत शानदार शतक के साथ 159 रनों पर नाबाद रहे और रविंद्र जडेजा ने भी अर्धशतक लगाने के साथ 81 रनों की पारी खेली। हालांकि वे शतक से चूक गए। इससे पहले चेतेश्वर पुजारा दोहरे शतक से चूकते हुए 193 रन बनाकर आउट हो गए थे।अच्छी बल्लेबाजी कर रहे चेतेश्वर पुजारा को नाथन लियोन ने कैच आउट करके पवेलियन भेजा। पुजारा के पवेलियन लौटने पर सभी दर्शकों ने तालियां बजाकर पुजारा का उत्साहवर्धन किया। इसके बाद पंत और जडेजा के बीच 204 रनों की बड़ी साझेदारी हुई। जिसकी बदौलत भारत विशाल स्कोर तक पहुंचने में सफल रहा।
मैच के पहले दिन चेतेश्वर पुजारा के सीरीज के तीसरे शतक और सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल के साथ उनकी शतकीय साझेदारी से भारत ने चौथे और अंतिम क्रिकेट टेस्ट के पहले दिन गुरुवार को यहां चार विकेट पर 303 रन बनाकर आस्ट्रेलिया के खिलाफ अपना पलड़ा भारी रखा। पुजारा ने 250 गेंद में 16 चौकों की मदद से नाबाद 130 रन की पारी खेलने के अलावा हनुमा विहारी (नाबाद 39) के साथ पांचवें विकेट के लिए 75 रन की अटूट साझेदारी करके भारत को मजबूत स्थिति में पहुंचाया। इससे पहले उन्होंने अग्रवाल (77) के साथ दूसरे विकेट के लिए 116 जबकि कप्तान विराट कोहली (23) के साथ तीसरे विकेट के लिए 54 रन की साझेदारी की। यह पहला मौका है जब पुजारा ने किसी सीरीज में तीन शतक जड़े हैं।
पुजारा ने अपनी इस पारी के दौरान किसी सीरीज में सर्वाधिक गेंद खेलने के लिहाज से अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। वह मौजूदा सीरीज में अब तक 1135 गेंद का सामना करते हुए 458 रन बना चुके हैं। इससे पहले उन्होंने 2016-17 में आस्ट्रेलिया दौरे पर ही 1049 गेंद का सामना करते हुए 405 रन बनाए थे। रनों के लिहाज से भी यह किसी सीरीज में पुजारा का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। इससे पहले उन्होंने 2012-13 में इंग्लैंड के खिलाफ भारत में चार टेस्ट की सीरीज में 438 रन बनाए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *