विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन

Please follow and like us:

हल्द्वानी (खबर संसार)

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की ओर से विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन खालसा नेशनल बालिका इन्टर कालेज हल्द्वानी में किया गया। शिविर का शुभारम्भ कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्राधिकरण के सचिव सविल जज श्रीमती निहारिका मित्तल गुप्ता द्वारा किया गया। शिविर मे वक्ताओ द्वारा जहां कानूनी जानकारी दी गई वही विभागीय अधिकारियों ने सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न कल्याणकारी योजनाओ की जानकारी शिविर में आये लोगो को दी गई। सम्बोधन मे विद्यालय की बालिकाओ को सम्बोधित करते हुये सचिव विधिक प्राधिकरण श्रीमती निहारिका ने कहा कि प्राधिकरण का उददेश्य है कि विधिक अधिकारो एवं कर्तव्यो की जानकारी समाज को देना है। उन्होनेे महिला हिंसाए वरिष्ठ नागरिकों के कल्याण सम्बन्धी अधिनियम एवं जनसंख्या निवारण के सम्बन्ध मे विस्तृत जानकारी के साथ ही इन अधिनियमों में दण्ड प्राविधानो की जानकारी भी दी। उन्होने सभी लोगों से अपील की कि वे विधिक अधिकारो के प्रति स्वयं जागरूक होवें व दूसरो को भी जागरूक करें। उन्होने कहा कानून साधारण भाषा मे वह नियम है जो हमारे जीवन को सुव्यवस्थित करने हेतु लिपिबद्ध किये गये है। जीवन मे जटिलतायें बढ रही हैए और कोई ऐसा पक्ष नही है जिसके बावत कानून नही बनाया गया हो। श्रीमती निहारिका ने शिविर में महिला श्रमिको के अधिकारए महिलाओ के सामाजिक अधिकारअनुसूचित जाति व अनुसूचित जनजातिए अत्याचार निवारण अधिनियमए महिलाओं का विवाह एवं तलाक सम्बन्धित अधिकारए महिलाओ की अभिरक्षाए भरण पोषण एवं सम्पत्ति अधिकार तथा दण्डिक विधि में महिलाओ की सुरक्षा विषयों पर विस्तार से जानकारी दी। उन्होने वरिष्ठ नागरिको के कल्याण सम्बन्धित अधिनियमो के सम्बन्ध मे विस्तार से जानकारी देते हुये माताए पिता के संरक्षण और भरण पोषण के अधिकारए वरिष्ठ नागरिको के कल्याण सम्बन्धित अधिकारीए वृद्वावस्था पेंशन योजना सम्बन्धित अधिकारए वृद्वजनो द्वारा विधिक सहायता प्राप्त करने की प्रक्रिया के बारे मे जानकारी दी। विधिक सेवाओ के बारे मे जानकारी देते हुये उन्होने बताया कि विघिक सहायता कार्यक्रम के अन्तर्गत न्यायालयए प्राधिकरणए ट्रिब्यूनल के समक्ष विचाराधीन मामलो मे पात्र व्यक्तियो को कानूनी सहायता उपलब्ध करायी जाती है। इसके साथ ही अनुसूचित जातिए जनजाति के नागरिक संविधान मे वर्णित मानव दुरव्यवहारए बेगार के शिकार व्यक्ति सभी महिलाये बच्चे विकलांगए मानसिक रूप से अस्वस्थ व्यक्ति बहु विनाश जाति हिंसा जाति अत्याचार दैवीय आपदा एवं औद्योगिक संकट से पीडित मजदूर जेल संरक्षण गृहए किशोर गृह मनोचिकित्सक अस्पताल या परिचर्चा गृह में निरूद्व व्यक्ति भूतपूर्व सैनिकए वरिष्ठ नागरिक निशुल्क विधिक सहायता प्राप्त करने हेतु पात्र है। श्रीमती निहारिका ने कहा कि बढती हुई जनसंख्या को मौजूदा दौर मे नियंत्रित करने की आवश्यकता है जिसके लिए लोगो को जागरूक करते हुये परिवार नियोजन एवं परिवार कल्याण कार्यक्रम से जोडा जाना निहायत जरूरी है। उन्होने कहा कि कम आयु मे बेटे और बेटी की शादी करना कानूनी अपराध है। उन्होने कहा कि आगामी 11 जुलाई को विश्व जनसंख्या दिवस के अवसर पर प्रत्येक जनपद मे जनसंख्या स्थिरीकरण पखवाडा आयोजित किया गया है। जिसके अन्तर्गत दम्पतियों को परिवार कल्याण के उपायो की जानकारी विभिन्न अस्पतालो मे दी जायेगी। अत: दम्पतियो को चाहिए कि वह जनसंख्या नियंत्रण के लिए इस पखवाडे मे अस्पताल मे जाकर परिवार नियंत्रण एवं नियोजन की जानकारी हासिल कर अपने दायित्यों का निर्वहन करें। शिविर में निर्भया प्रकोष्ठ के अलावा आदि विभागो के अधिकारियो द्वारा अपने.अपने विभाग की विस्तृत जानकारियां दी गई। विधिक साक्षरता शिविर में 34 बच्चो का स्वास्थ्य परीक्षण भी किया गया। शिविर मे वरिष्ठ एडवोकेट निर्भया प्रकोष्ठ संगीता टाकुली परिविक्षा अधिकारी व्योमा जैन हरीश नाथ गोस्वामी एडवोकेट बसंत जोशी पंकज सती सदस्य हेमन्त राणा चेतना भार्गव प्रधानाचार्या खालसा इन्टर कालेज के अलावा बडी संख्या में छात्रायें मौजूद थी। कार्यक्रम का संचालन खष्टी बल्लभ द्वारा किया गया।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *