महिलाएं किसी भी क्षेत्र में पुरुषों से पीछे नहीं!

नई दिल्ली (खबर संसार) आज अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस हैं इस खास मौके पर हम आपको कुछ महिलाओं के बारे में बतायेंगे जिन्होंने व निर्देशक के रूप में अपने आप को साबित किया। आज के समय में महिलाओं का नाम हर बड़ी चीज से जुड़ रहा है। बॉलीवुड में ज्यादातर पुरुष निर्देशक रहे हैं, लेकिन अब महिला निर्देशकों के नाम भी इस लिस्ट में शुमार होने लगे हैं।

 आठ मार्च की तारीख दुनिया भर में महिलाओं को समर्पित है। एक समय था जब एक औरत को उसके पति से पहचान मिलती थी। लेकिन आज वो समय है जहां एक औरत भी अपने पति की पहचान है। आइए इस खास अवसर पर आपको मिलवाते हैं कुछ महिला निर्देशकों से-
फातिमा बेगम
वो समय जब महिलाओं को काफी अलग नजर से देखा जाता था, उस दौर में फातिमा बेगम ने साल 1926 में अपनी पहली फिल्म बुलबुले परिस्तान का निर्देशन किया था। यह फिल्म उस वक्त की एक बड़े बजट की फिल्म थी, जिसमें काफी अलग तकनीकों का भी प्रयोग किया गया था। यह महिला अपने दौर की सुपरस्टार महिला थी। फातिमा बेगम का जन्म साल 1892 में हुआ था। उन्होंने अपने खुद का प्रोडक्शन हाउस फातिमा फिल्म्स की शुरूआत भी की थी।
लीना यादव
लीना यादव भी मशहूर महिला निर्देशकों में से एक है। कुछ समय पहले रिलीज हुई फिल्म राजमा चावल से उन्होंने अपनी एक अलग पहचान बनाई है। इस फिल्म को सबने काफी पसंद किया।
मीरा नायर
मीरा नायर ने अपने सफर की शुरूआत शार्ट फिल्म व डाक्यूमेंट्री से की थी। आज के समय में इनका नाम बेस्ट फिल्म निर्देशकों में शामिल हैं। फिल्म सलाम बॉम्बे ने मीरा नायर को बॉलीवुड में पहचान दिलाई। इस फिल्म को कांस फिल्म फेस्टिवल में गोल्डेन कैमरा अवार्ड भी मिला था।
जोया अख्तर
बॉलीवुड में जोया अख्तर एक सफल महिला निर्देशक के रूप में स्थापित हैं। जोया अख्तर ने अपने करियर की शुरुआत में पेप्सी, फिनोलेक्स सहित कई कमर्शियल एड फिल्मों में काम किया है। उसके बाद लक बाइ चांस और जिंदगी मिलेगी ना दोबारा,दिल धड़कने दो और गली बॉय जैसी फिल्मों का निर्देशन किया। जो बॉक्स ऑफिस पर सुपरहिट रहीं। इसके अलावा इन्होंने मेड इन हेवन, लस्ट स्टोरीज जैसी वेब सीरिज भी बनाई।

ताजा खबरें पढ़ने लिए क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *