राजनीतिक विज्ञापन और कॉन्टेंट के प्रसारण पर रोक के निर्देश जारी!

नई दिल्ली (खबर संसार)।एक बार फिर नमो टीवी अपने कॉन्टेंट को लेकर खबरों में आ गया है। दरअसल, लोकसभा चुनाव के मद्देनजर चुनाव आयोग ने बीजेपी को नमो टीवी पर कोई भी राजनीतिक विज्ञापन या कॉन्टेंट न चलाने का निर्देश दिया है।चुनाव आयोग ने इस बात की जानकारी बीजेपी के राष्ट्रीय चुनाव समिति के सदस्य नीरज को पत्र लिखकर दी।

पत्र में चुनाव आयोग ने रिप्रेजेंटेशन ऑफ पीपल्स एक्ट 1951 की धारा 126 का हवाला देते हुए राजनीतिक विज्ञापन और कॉन्टेंट के प्रसारण पर रोक लगाने का निर्देश जारी किया है। बता दें कि दिल्ली में 12 मई को छठे चरण के मतदान होने है, जिसको देखते हुए चुनाव आयोग ने 10 मई यानि शुक्रवार शाम 6 बजे से 12 मई शाम 6 बजे तक प्रसारण पर रोक लगाई है।
राजनीतिक विज्ञापन के प्रसारण पर लगी रोक
हालांकि इस मामले में बीजेपी ने चुनाव आयोग के सामने अपना पक्ष रखा और कहा कि राजनीतिक विज्ञापन और कॉन्टेंट नहीं चलाए जाएंगे लेकिन लाइव प्रोग्राम दिखाया जाएगा। रिपोर्ट्स के मुताबिक नमो टीवी पर शुक्रवार शाम 6 बजे के बाद भी राजनीतिक कॉन्टेंट प्रसारित हुए जिस पर आयोग ने बीजेपी को नोटिस भेजा था। नोटिस में पीएम मोदी के भाषण के लाइव प्रसारण को भी रोकने को कहा गया है।
गौरतलब है कि मतदान से 48 घंटे पहले कोई भी राजनीतिक विज्ञापन या राजनीती से प्रेरित कॉन्टेंट पर इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के जरिए प्रसारित करने पर रोक का प्रावधान है। वहीं चुनाव आयोग की संवैधानिक शक्तियों के मुताबिक मतदान वाले दिन और उससे एक दिन पहले पार्टियों और उसके कैंडिडेट को प्रिंट मीडिया में राजनीतिक विज्ञापन देने से मनाही होती है।
इससे पहले पीएम मोदी की बायोपिक की रिलीज पर भी चुनाव आयोग सख्त कदम उठा चुका है। चुनाव आयोग का कहना है कि कोई भी कॉन्टेंट जो चुनाव में सभी दावेदारों को समान अवसर उपलब्ध कराने के सिद्धांत से मेल नहीं खाता हो, उसका प्रसारण नहीं किया जाना चाहिए। कांग्रेस, आम आदमी पार्टी समेत कई राजनीतिक पार्टियां इससे पहले नमो टीवी पर बैन को लेकर चुनाव आयोग से शिकायत कर चुकी हैं। जिसके बाद अप्रैल में चुनाव आयोग ने बीजेपी से इसका जवाब भी मांगा था।

ताजा खबरें पढ़ने लिए क्लिक करें आखिरकार किसानों की जीत हो ही गई

ताजा खबरों के लिए चैनल को सब्सक्राइब करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *