सभी चिकित्सा अधिकारी सम्बन्धित चिकित्सालय में रहना सुनिश्चत करे

भीमताल/नैनीताल, खबर संसार। स्वास्थ्य के प्रति बेहद संजीदा जिलाधिकारी सविन बंसल ने कहा कि सभी को स्वास्थ्य मुहैया कराना हम सभी का दायित्व है, इसलिए सभी चिकित्सा अधिकारी सम्बन्धित चिकित्सालय में रहना सुनिश्चत करेंगे।

उन्होंने कहा कि दूरस्थ क्षेत्रों में तैनात स्वास्थ्य कर्मी नियमित भ्रमण कर गर्भवती महिलाओं व बच्चों का शतप्रतिशत टीकाकरण कराना सुनिश्चित करें। चिकित्सालयों का औचक निरीक्षण जिलाधिकारी द्वारा किया जाएगा तथा नियमित निरीक्षण उप जिलाधिकारियों द्वारा किया जाएगा। निरीक्षण के दौरान अनुपस्थित पाए जाने पर सम्बन्धितों के खिलाफ विभागीय व प्रशासनिक कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।

श्री बसंल ने विकास भवन सभागार में चिकित्सा विभाग की समीक्षा बैठक लेते हुए चिकित्सा विभाग के अधिकारियो को निर्देशित किया कि सभी चिकित्सक सम्बन्धित चिकित्सालयों में समय से उपस्थित होकर मरीजों को देखना सुनिश्चित करें, ऐसा न करने वाले डाॅक्टरों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा कि सीएमओ, एसीएमओ के साथ ही कोई भी एमओआईसी जिलाधिकारी से अनुमति लिए बिना अपना कार्य क्षेत्र नहीं छोड़ेगा, ऐसा न करने वालों के खिलाफ नियमानुसार सख्त कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।

उन्होंने कहा कि आपातकालीन 108 वाहन आवश्यक एवं घटना स्थल पर निर्धारित 20 मिनट के भीतर अनिवार्य रूप से पहुॅच कर सेवा उपलब्ध करानी सुनिश्चित करे, समय के भीतर सेवा उपलब्ध न कराने पर वेतन आहरण पर रोक लगााते हुए आगे की कार्यवाही की जाएगी। स्वास्थ्य विभाग के विभिन्न कार्यक्रमों के अन्तर्गत जागरूकता अभियान चलाने के साथ ही किसी प्रकार की दुर्घटना के समय तुरन्त उपचार देना अपर मुख्य चिकित्साधिकारी एवं सम्बन्धित एमओआईसी की जिम्मेदारी होगी।

उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिए कि वे स्वास्थ्य विभाग के द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं, कार्यक्रमों का प्रत्येक सप्ताह बैठक कर समीक्षा करेंगे तथा उसकी सूचना जिलाधिकारी कार्यालय को भी उपलब्ध करायेंगे। उन्होंने जनपद के चिकित्सालयों में चिकित्सकों, फामेसिस्टों, तकनीकी स्टाफ की कमी की सूची एक सप्ताह में उपलब्ध कराने के निर्देश भी दिए। उन्होंने राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, सघन डायरिया नियंत्रण, कृमि मुक्ति, जनसंख्या स्थिरीकरण, तम्बाकू निषेध आदि कार्यक्रम की विस्तृत समीक्षा की।

श्री बंसल ने नगर स्वास्थ्य अधिकारी व अधीक्षण अभियंता जल संस्था को चेतावनी देते हुए कहा कि वर्षाकाल चल रहा है, इस दौरान संक्रमण एवं जल जनित बीमारियाॅ होने की संभावनाएं बढ़ जाती हैं, इसलिए एक सप्ताह के भीतर जल स्त्रोतों का  बैक्ट्रोलोजिकल टेस्ट व पानी की टंकियों की सफाई कराने के साथ ही ओटी टैस्ट व पानी का क्लोरीनाईजेशन अनिवार्य रूप से कराए। जिलाधिकारी श्री बंसल ने कहा कि 22 जुलाई से जनपद में सघन डायरिया नियंत्रण पखवाड़ा चलाया जाना है, जिसकी सभी तैयारियाॅ समय से पूर्ण कर ली जाएं।

डायरिया पखवाड़े के दौरान सभी 5 वर्ष तक के बच्चों के घर-घर में ओआरएस वितरण के साथ ही सभी चिकित्सालयों में ओआरएस, जिंक काॅर्नर के माध्यम सें वितरित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि मुख्य शिक्षा अधिकारी प्रत्येक विद्यालय में प्रार्थना के समय हाथ धुलाई, स्वच्छता के प्रति विद्यार्थियों को जागरूक करेंगे तथा आंगनबाड़ी कार्यकत्री अपने आंगनबाड़ी में भी बच्चों व उनके अभिभावकों को स्वच्छता के प्रति जागरूक करते हुए ओआरएस वितरित करेंगे।

उन्होंने कहा कि कृमि मुक्ति दिवस 8 अगस्त को 1 से 19 वर्ष तक के बच्चों को डिवार्मिंग की दवा अपनी-अपनी उपस्थिति खिलाना सुनिश्चित करेंगे। जनसंख्या स्थिरीकरण की समीक्षा करते हुए चिकित्साधिकारी को निर्देश दिए कि वे पात्र दम्पत्तियों को परिवार कल्याण की विस्तृत जानकारी देते हुए जनसंख्या नियंत्रण की विभिन्न विधियों के बारे में जागरूक करें।

बैठक में अपर जिलाधिकारी एसएस जंगपांगी, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ.भारती राणा, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ.टीके टम्टा व प्रमुख चिकित्साधीक्ष, मुख्य चिकित्साधीक्षक, एमओआईसी सहित मुख्य शिक्षा अधिकारी केके गुप्ता, जिला शिक्षाधिकारी माध्यमिक हीरालाल गौतम, बेसिक गोपाल स्वरूप, जिला कार्यक्रम अधिकारी अनुलेखा बिष्ट सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

ताजा खबरों के लिए क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *