सीसीटीवी कैमरे से होगी नैनीझील की चौबीसों घंटे निगरानी- जिलाधिकारी

नैनीताल, खबर संसार। नैनीझील के संरक्षण एवं प्रदूषण से बचाने के लिए हाई-रिजोल्यूसन सीसीटीवी कैमरे लगायेेे गये। जिनके द्वारा आपदा कन्ट्रोल रूम व कोतवाली मल्लीताल में चैबीस घंटे नजर रखी जा रही है।

जिलाधिकारी सविन बंसल ने कहा कि नैनीझील व नालों में असामाजिक तत्वों द्वारा कूडा-कचरा, मलुवा व निष्प्रयोज्य निर्माण सामग्री फैंकी जाने के कारण नैनीझील मे प्रदूषण बढ रहा है तथा झील मे गन्दगी हो रही है जो झील के रिचार्ज क्षमता को भी प्रभावित कर रहा है।

उन्होने नैनीझील में नैनीझील व झील के नालों मे कूडा-कचरा, मलुवा व निष्प्रयोज्य निर्माण सामग्री डालने वालों पर चैबीस घंटे नजर रखने व उन पर कडी कार्यवाही करने के लिए हाई-रिजोल्यूसन सीसीटीवी कैमर लगा दिये गये हैं जिनसे झील व नालों पर कडी नजर रखी जा रही है।

उन्होने कूडा फैंकने एवं थूकने  प्रतिषेद अधिनियम 2016 के तहत प्राधिकृत अधिकारी के रूप मेें अपर जिलाधिकारी नैनीताल, उपजिलाधिकारी, अधिशासी अधिकारी नैनीताल, अधिशासी अभियन्ता सिचाई, सचिव जिला स्तरीय विकास प्राधिकरण, पुलिस क्षेत्राधिकारी, नगर स्वास्थ्य अधिकारी,तहसीलदार नैनीताल, प्रभारी निरीक्षक मल्लीताल व थानाध्यक्ष तल्लीताल नैनीताल को नामित करते हुये अधिनियम के तहत निहित शक्तियो का प्रयोग करते हुये कूडा-कचरा, मलुवा व निष्प्रयोज्य निर्माण सामग्री डालने वालों के विरूद्व दण्डात्मक कार्यवाही अमल मे लाने के निर्देश दिये।

प्रदूषण करने वालों को किया जाएगा चिन्हित

श्री बंसल ने आपदा प्रबन्धन अधिकारी, जिला आपातकालीन परिचालन केन्द्र तथा प्रभारी निरीक्षक कोतवाली मल्लीताल मे स्थापित माॅनीटर द्वारा सत्त निगरानी रखते हुये नालों, झील मे कूडा-कचरा, मलुवा व निष्प्रयोज्य निर्माण सामग्री व अन्य प्रदूषित सामग्री फैंकने वालो को चिन्हित करते हुये उनके वीडियो फुटेज सम्बन्धित नामित प्राधिकारियों को उपलब्ध कराने के निर्देश दिये।

उन्होने कहा कि सीसीटीवी कैमरों की प्रभावी माॅनीटरिंग हो इस हेतु आवश्यक होगा कि विषेश रूप से रात्रि के समय की रिकार्डिग अगले दिन अवश्य देखी जाए जिससे झील में गन्दगी करने वाला  कोई भी व्यक्ति सीसीटीवी कैमरे से बच नही पाये। उन्होने अधिशासी अधिकारी को निर्देश दिये कि वे सीसीटीवी कैमरों के रेंज वाले स्थानों मे निरीक्षण हेतु टीमों का गठन कर प्रतिदिन निरीक्षण करवायें।

अधिशासी अभियन्ता सिचाई व अधिशासी अधिकारी नगर पालिका को निर्देश दिये कि वे नैनीताल के प्रमुख नालोें के आसपास सीसीटीवी कैमरेे के माध्यम से कूडा-कचरा अन्य प्रदूषित सामग्री को नालों में डाले जाने की निगरानी के लिए सूचना बोर्ड लगवाने व अन्य माध्यम से प्रचारित करना सुनिश्चित करें।

उन्होने कहा कि अधिशासी अधिकारी समस्त सफाई कर्मचारियों को निर्देश करें कि वे मार्ग की सफाई के दौरान किसी प्रकार का कूडा नालों मे ना डालें ऐसा करते पाये जाने पर सम्बन्धित कर्मचारी के विरूद्व कार्यवाही की जायेगी। उन्होने कहा कि नैनीझील के नालोें के निकट स्थित मकानों में निवासरत व्यक्तियों के घर से निकलने वाला कूडा प्रदूषित जल को नालों मे कतई ना डालेें, कूडा अथवा प्रदूषित जल नालों मे डाले पाये जाने पर अधिनियम के तहत कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी। 

ताजा खबरों के लिए क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *