मेडिकल काॅलेज प्रांगण में मुख्यमंत्री ने 200 करोड़ की योजनाओं का किया शिलांयास

हल्द्वानी (खबर संसार ) वैदिक मंत्रों के बीच सूबे के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने मेडिकल काॅलेज प्रांगण में शनिवार को 197 करोड़ 50 लाख की लागत की 42 विभिन्न विकास योजनाओं का लोकार्पण तथा शिलान्यास किया। सम्पन्न हुए कार्यक्रम में 148 करोड़ 65 लाख की 22 योजनाओं का शिलांयास तथा 48 करोड़ 85 लाख की 20 योजनाओं का लोकार्पण किया।

इस अवसर पर प्रदेश के उच्च शिक्षा एवं सहकारिता मंत्री डाॅ.धन सिंह रावत, सांसद भगत सिंह कोश्यारी, विधायक बंशीधर भगत, नवीन दुम्का, संजीव आर्य, महेश नेगी, राम सिंह कैडा, मेयर डाॅ.जोगेन्द्र पाल सिंह रौतेला, ब्लाॅक प्रमुख आनन्द सिंह दरम्वाल, अध्यक्ष मण्डी समिति गजराज सिंह बिष्ट, जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट आदि मौजूद थे।

अपने सम्बोधन में मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि प्रदेश के दूर दराज ईलाके में बैठे व्यक्ति तक विकास की किरणें पहुॅचे इसके लिए प्रदेश सरकारी पूरी दृढ़ शक्ति से प्रयासरत है। उन्होंने कहा कि करोड़ों की लागत के विकास कार्य प्रदेश के हर जनपद में गतिमान हैं। उन्होंने कहा कि विकास हर नागरिक का अधिकार है।

उन्होंने कहा कि विकास के साथ ही जन-जन तक स्वास्थ्य सुविधाएं पहुॅचाना सरकार की प्राथमिकता में शामिल है। प्रदेश के हर गरीब व आम व्यक्ति को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं मिले इसके लिए अटल आयुष्मान योजना संचालित की जा रही है जिसके तहत प्रदेश के शतप्रतिशत लोगों के गोल्डन कार्ड बनाने का कार्य युद्ध स्तर पर गतिमान है। इस योजना के तहत पाॅच लाख तक की निःशुल्क स्वास्थ्य सेवाएं लोगों को दी जा रही है।

सरकार ने स्वास्थ्य सेवाओं की बेहतरी को बेहतर कदम उठाएं

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं की बेहतरी के लिए सरकार ने बेहतर कदम उठाएं हैं। दो वर्ष पहले महज 1034 चिकित्सक ही सरकारी अस्पतालों में कार्यरत थें, जिसे सरकारी प्रयासों से सरकारी अस्तालों में चिकित्सकों की संख्या 2100 हो गयी है जबकि प्रदेश में स्वीकृत पदों की संख्या 2700 है। उन्होंने मेडिकल काॅलेज के छात्र-छात्राओं से कहा कि मानवीय सेवा महान गुण है। उन्होंने मेडिकल छात्रों से कहा कि वह पर्वतीय क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधाएं पहुॅचाने में सरकार के मिशन में सच्ची भावना से शामिल हों।

उन्होंने कहा कि शिक्षा और स्वास्थ्य हमारे प्रदेश की दो महत्वपूर्ण चुनौतियाॅ हैं। उन्होंने कहा कि तकनीकि के जरिये आम आदमी की मुश्किलों को आसान करने के लिए राज्य के 43 अस्पतालों में आॅन लाईन रजिस्ट्रेशन शुरू किया गया है। टैली रेडियोलोजी के माध्यम से सुदूरवर्ती 35 मेडिकल सेन्टरों में एक्सर,े सी-टी स्कैन तथा मैमोग्राफी की सुविधाएं उपलब्ध करायी जा रही हैं। बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओं अभियान के तहत बालिकाओं को जन्म देने वाली माताओं को वैष्णवी किट दी गयी है। स्पर्श योजना के तहत बहुत ही कम मूल्य पर बालिकाओं को सैनेट्री नैपकिन उपलब्ध कराये जा रहे है।उन्होंने कहा कि नैनीताल जिले के 2007 में निर्मित मालधनचैड़ राजकीय चिकित्सालय में पद सृजित करते हुए चिकित्सक की तैनाती भी कर दी गई है।

मुख्यमंत्री ने अपने सम्बोधन में कहा कि अगले सत्र से राजकीय मेडिकल काॅलेज अल्मोड़ा विधिवत तौर पर अपना कार्य प्रारंभ कर देगा, कुमाऊॅ के पर्वतीय क्षेत्र के इस मेडिकल के लिए बजट की व्यवस्था कर दी है। उन्होंने कहा कि राजकीय मेडिकल काॅलेज हल्द्वानी में एमबीबीएस की सीटों की संख्या 100 से बढ़ाकर 150 कर दी गई है, इसके साथ ही 150 सीटेड छात्रावास तथा वायरल रिसर्च एण्ड डायग्नोस्टिक लैबोरेट्री के अस्तित्व में आ जाने से यहाॅ के अध्ययनरत विद्यार्थियों को विशेष सुविधाएं मिलेंगी।

अपने सम्बोधन में सांसद भगत सिंह कोश्यारी ने कहा कि प्रदेश में सरकार द्वारा लागू की गयी योजना को लेकर जनमानस काफी उत्साहित है इसका लाभ गरीब लोगों के साथ ही आम जनमानस को भी मिल रहा है। विकास हमारी परम्परा एवं संस्कृति है। इसी उद्देश्य को लेकर सरकार हर पल विकास के कार्यों को धरातल पर उतारने के लिए पूरी तत्परता से कार्य कर रही है।

कार्यक्रम में मुख्यमंत्री के जन सम्पर्क अधिकारी विजय बिष्ट, मनोज शाह, ध्रुव रौतेला, चतुर सिंह बोरा, प्रकाश रावत, विजय मनराल, आलम नदगली, अनिल डब्बू, प्रदीप जनौटी, विरेन्द्र बिष्ट, यशपाल बिष्ट, भुवन जोशी, संजय दुम्का, सुरेश नदगली, गोविन्द ताकुली, मजहर नईम नवाब, योगेश रजवार, पुष्कर कोश्यारी, मुकेश बोरा, प्रकाश गर्जोला के अलावा आयुक्त कुमाऊॅ मण्डल राजीव रौतेला, डीआईजी अजय जोशी, जिलाधिकारी विनोद कुमार सुमन, मुख्य विकास अधिकारी विनीत कुमार, एसएसपी सुनील कुमार मीणा, प्रधानाचार्य राजकीय मेडिकल काॅलेज चन्द्र प्रकाश भेसोड़ा, चिकित्साधीक्षक सुशीला तिवारी चिकित्सालय डाॅ. अरूण कुमार जोशी, सीएमओ डाॅ.भारती राणा, अपर जिलाधिकारी हरबीर सिंह, जिला विकास अधिकारी रमा गोस्वामी, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी एलएम जोशी, अपर मुख्य अधिकारी राजेश कुमार, मुख्य नगर आयुक्त सीएस मर्तोलिया के अलावा अन्य अधिकारी मौजूद थे।

ताजा खबरें पढ़ने लिए क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *