दलित लड़की की पेड़ से लटकती मिली लाश, ट्विटर पर इंसाफ की गुहार

अरावली, खबर संसार। गुजरात के अरावली जिले के मोदसा कस्बे में एक दलित छात्रा की मौत के बाद लोगों का गुस्सा फूट पड़ा है। प्रदर्शनकारियों ने आरोप लगाया है कि 19 वर्षीय छात्रा के साथ गैंगरेप करके उसकी हत्या की गई है।

लड़की के परिवार वालों ने यह भी आरोप लगाया है कि पुलिस ने इस पूरे मामले में गंभीर लापरवाही बरती है। बता दें कि लड़की का शव बरगद के पेड़ से लटकता पाया गया था। इस कथित हत्याकांड को लेकर ट्विटर पर इंसाफ की मुहिम शुरू हो गई और हजारों की संख्या में लोग ट्वीट कर दलित छात्रा को न्याय दिए जाने की मांग कर रहे हैं। प्रदर्शनकारियों के आरोपों के बीच पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में गैंगरेप या हत्‍या की पुष्टि नहीं हुई है। 

क्या है पूरा मामला – मोदसा कस्बे से 1 जनवरी को 19 साल की छात्रा लापता हो गई थी। 5 जनवरी को पेड़ से लटकता हुआ उसका शव मिला था। इसके बाद परिजनों ने हत्या और गैंगरेप का आरोप लगााया। गुजरात पुलिस के रवैये से नाराज लड़की के परिवार वालों ने शव लेने से इनकार कर दिया था। हत्‍या के 4 दिन बाद 9 जनवरी को शव का अंतिम संस्‍कार किया गया। पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज कर जांच शुरू की। उधर, इस पूरे मामले में लापरवाही बरतने वाले पुलिस अधिकारी को निलंबित कर दिया गया है।

गांववालों का प्रदर्शन, ट्विटर पर इंसाफ की मुहिम

हत्याकांड के बाद गांव के लोगों ने जोरदार विरोध प्रदर्शन किया है। यही नहीं ट्विटर पर हजारों की संख्या में लोग ट्वीट कर न्‍याय देने की मांग कर रहे हैं। इससे जुडे़ हैशटैग टॉप 10 में ट्रेंड कर रहे हैं। प्रदर्शनकारियों ने इस हत्‍याकांड के 4 आरोपियों को अरेस्ट करने की मांग की है। इन सभी लोगों पर अपहरण, रेप और मर्डर का मामला दर्ज किया गया है। दलित कार्यकर्ताओं का कहना है कि उन्होंने परिवार को शव लेने के लिए सलाह दी थी। लड़की की मौत के बाद से पूरा परिवार सदमे में है। कार्यकर्ताओं ने बताया कि पूरे परिवार ने लड़की के लापता होने के बाद से खाना-पीना छोड़ दिया है। 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *