डीएम के निर्देश पर अधिकारियों ने जलभराव का निरीक्षण किया

रूद्रपुर, खबर संसार। कल देर रात्रि जिलाधिकारी डाॅ0 नीरज खैरवाल के निर्देशों के क्रम में अपर जिलाधिकारी उत्तम सिंह चैहान, एसएललो एन0एस0 नबियाल, उपजिलाधिकारी मुक्ता मिश्रा ने सयुक्त रूप से जनपद रूद्रपुर में भारी बारिश से हुए नुकसान व जलभराव का निरीक्षण किया।

निरीक्षण के उपरान्त उन्होने रम्पुरा व भूतबंगला क्षेत्र में जलभराव व आवासीय भवन एवं झुग्गी झोपड़ियो व प्राईमरी पाठशाला भूतबंगला बाल्मिकी नगर में निवास कर रहे 70 परिवारों के 250 व्यक्तियों व संत कबीर विद्यालय भूतबंगला में 20 परिवारों के 100 व्यक्तियों को अस्थायी रूप से शिफ्ट किया गया। जिला प्रशासन द्वारा अस्थायी राहत केन्द्रो में बिस्तर, बिजली, पानी एवं भोजन आदि की भी व्यवस्था की गयी।

वहीं उप तहसील नानकमत्ता में आकाशीय बिजली गिरने से पृथ्वी पाल सिंह पुत्र श्री हरी सिंह उम्र 35 वर्ष की पत्नी श्रीमती जशोदी देवी को जिला प्रशासन द्वारा मुआवाजे के तौर पर 4 लाख मृतक परिवार को दिये। वही तहसील खटीमा के लोहियाहेड ग्राम अमाऊ सैक्टर 2 वार्ड न0-9 में जलभराव होने पर उपजिलाधिकारी खटीमा निर्मला बिष्ट द्वारा जलभराव की समस्या से निजात दिलाने को लेकर कार्यवाही गतिमान है।

तहसील सितारगंज में हुए जलभराव को लेकर स्थानीय अधिशासी अधिकारी नगर पालिका सितारगंज द्वारा त्वरित गति से आवश्यक कार्यवाही की गयी। रूद्रपुर में कतिपय स्थानों पर विद्युत वितरण खण्ड रूद्रपुर में हो रही समस्याओं को लेकर नगर निगम रूद्रपुर को आवश्यक कार्यवाही हेतु निर्देश दिये गये। वही आपदा कन्ट्रोल रूम के अनुसार जनपद में नदियों का जल स्तर बौर जलाशय 780.20, हरीपुरा 781.10, बेगुल जलाशय 671.75 एवं नानक सागर 680.00 फीट है।

उन्होनें बढ़़ते हुए जल स्तर को देखते हुए आम जनमानस से अपील की है कि नदी नालो के किनारे ना ही अपने मवेशियों को जाने दे और ना ही स्वंय जायें। जिलाधिकारी ने सम्बन्धित उप जिलाधिकारियों व आपदा से जुड़े अधिकारियों को अपने-अपने क्षेत्र में मुस्तेद रहने के निर्देश दिए। उन्होने कहा कि किसी भी क्षेत्र में देवीय आपदा आने पर जनपद में स्थापित कन्ट्रोल रूम का न0-05944-250250, 250719 पर सम्पर्क करें।

ताजा खबरों के लिए क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *