दिल्ली विश्वविद्यालय में सीधी भर्ती 1 फरवरी 2019 से लागू?

नई दिल्ली (खबर संसार)। आर्थिक रूप से पिछड़े वर्गों के 10 प्रतिशत आरक्षण संबंधी नीति को ध्यान में रखकर दिल्ली विश्वविद्यालय में सीधी भर्ती प्रक्रिया में 1 फरवरी 2019 से लागू करने के निर्देश दिए हैं। इस सर्कुलर से कॉलेज प्रिंसिपल/ लाइजन ऑफिसर में रोस्टर रिकास्ट को लेकर खलबली मची हुई है।

दिल्ली यूनिवर्सिटी एससी, एसटी ओबीसी टीचर्स फोरम के चेयरमैन व पूर्व एकेडमिक काउंसिल मेंबर प्रो. हंसराज सुमन का कहना है कि रोस्टर रिकास्ट करने संबंधी भेजे सर्कुलर को लेकर कॉलेज लाइजन ऑफिसरों में कई तरह के सवाल है। इसे कैसे लागू करें, कब से लागू करे, पहले चरण में कितने पद दिए गए हैं, इसके लागू होने से दूसरे वर्गों के कितनी पद बनेंगे, यूजीसी ने नए पदों पर नियुक्ति करने संबंधी निर्देश दिए हैं क्या? सर्कुलर में स्पष्ट नहीं किया गया कि कैसे लागू करना है।
कॉलेजों को सर्कुलर के साथ डीओपीटी का कार्यालय ज्ञापन भेजा गया है कि कैसे रोस्टर बनेगा साथ ही मॉडल रोस्टर देखना है तो डीओपीटी द्वारा जारी कार्यालय ज्ञापन में विस्तार से दिया गया है। कहा गया है कि रोस्टर को 1 फरवरी 2019 के कार्यालय ज्ञापन के विवरण को ध्यान में रखकर रोस्टर को रिकास्ट करके डीयू के लाइजन ऑफिसर से पास करवाकर पदों को विज्ञापित किया जाए।

ताजा खबरें पढ़ने लिए क्लिक करें  सारे चोरों के पीछे मोदी -राहुल गांधी

ताजा खबरों के लिए चैनल को सब्सक्राइब करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *