आंधी-तूफान एवं वर्षा के कारण नगर क्षेत्र में गिरे पेड़ों को तुरंत हटाया जाए

नैनीताल, खबर संसार। जिलाधिकारी सविन बंसल ने जिला कार्यालय में प्रशासनिक अधिकारियों के साथ ही वन विभाग, वन निगम के अधिकारियों की बैठक लेते हुए निर्देश दिए कि गत दिनों आंधी-तूफान एवं वर्षा के कारण नगर क्षेत्र में गिरे-पड़े पेड़ों का तुरन्त निस्तारण करने के निर्देश दिए।

इस हेतु उन्होंने राजस्व, वन, नगर पालिका, वन निगम की संयुक्त समिति बनाते हुए तुरन्त सर्वे रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए ताकि गिरे पेड़ों का त्वरित निस्तारण किया जा सके। उन्होंने कहा कि शहर में जो भी पेड़ गिरने की दृष्टि से खतरनाक होने की शिकायत व उनके काटने हेतु प्रार्थना पत्र प्राप्त हुए हैं, उनका भी संयुक्त निरीक्षण कर वीडियो, फोटोग्राफ के साथ रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए।

जिलाधिकारी श्री बंसल ने कहा कि सभी अधिकारी अपनी-अपनी परिसम्मपत्तियों में दुर्गटना संभावित खतरनाक पेड़ों को चिन्हित कर सूची वीडियो, फोटोग्राफ सहित उपलब्ध कराने के निर्देश दिए ताकि उनका संयुक्त निरीक्षण कराकर छपान कर कटवाये जा सकें। इस हेतु उन्होंने उप जिलाधिकारी, वन, लोनिवि, एनएच, विद्युत, डीएलएम, ईओ संयुक्त समिति बनाई जो अपनी रिपोर्ट जिलाधिकारी कार्यालय को उपलब्ध करायेंगे ताकि उनका वन विभाग द्वारा छपान कर वन निगम द्वारा कटवाये जा सकें। जिलाधिकारी ने कहा कि दुर्घटना संभावित खतरनाक पेड़ों को संयुक्त समिति की रिपोर्ट के अनुसार डीएम एक्ट के अन्तर्गत कटवाये जायेंगे ताकि किसी भी प्रकार की दुर्घटना से बचा जा सके।

बैठक में अधीक्षण अभियंता विद्युत एससी त्रिपाठी ने बताया कि मेहरा गाॅव से विद्युत लाईन भवाली-रेहड़, मनोरा, आॅब्जर्वेटरी आरक्षित वनों से होते हुए सूखाताल आती है, जहाॅ से शहर का विद्युत वितरण होता है। उन्होंने कहा कि आरक्षित वनों में चीड़ के बड़े-बड़े पेड़ हैं जिससे पेड़ों के टूटने-गिरने से विद्युत लाईने क्षतिग्रस्त होने से नैनीताल शहर की विद्युत आपूर्ति बाधित हो जाती है।

उन्होंने विद्युत लाईन से लगे पेड़ों को कटवाने की बात की, जिस पर जिलाधिकारी ने संयुक्त समिति को निरीक्षण कर सूची प्रभागीय वनाधिकारी को उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।
जिलाधिकारी ने वर्षाकाल के दौरान विभिन्न सड़कों पर गिरे व गिरने वाले पेड़ों को तुरन्त काटने हेतु ज्योलीकोट व मल्लीताल थाने को एक-एक वुड कटर उपलब्ध कराने के निर्देश आपदा प्रबन्ध अधिकारी को दिए, साथ ही उन्होंने कहा कि प्रत्येक थाने के साथ ही विद्युत व वन निभाग को वुड कटर दिए जायें।लाधिकारी ने कहा कि मानूसन के दौरान मलवा व पेड़ आदि गिरने पर तत्काल यातायात सुचारू करने के निर्देश भी अधिकारियों को दिए।

बैठक में प्रभागीय वनाधिकारी टीआर बीजूलाल, सचिव प्राधिकरण हरबीर सिंह, उप जिलाधिकारी विनोद कुमार, अधीक्षण अभियंता विद्युत एससी त्रिपाठी, अधिशासी अभियंता लोनिवि बीएस बसनाल, क्षेत्रीय प्रबन्धक वन निगम जीसी पन्त, लाॅगिंग प्रभाग वन निगम एमसी शर्मा, क्षेत्रीय प्रबन्धक वन विकास निगम बीडी हरबोला, अग्निशमन अधिकारी कैलाश चन्द्र, किशोर उपाध्याय, आपदा प्रबन्धन अधिकारी शैलेश कुमार आदि मौजूद थे।

ताजा खबरों के लिए क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *