हिन्दुस्तान और पाकिस्तान के मुसलमानों ने दोनों देश के बारे में कई बातें साझा की।

नई दिल्ली (खबर संसार) भाईचारे की मिसाल देते हुए मुस्लिम महिलाओं ने कहा कि पाक मेरा ससुराल है तो हिन्दुस्तान मायका हैं। पुलवामा में भारतीय सैनिकों के मारे जाने के बाद बढ़ी तल्खी के बाद भले ही भारत और पाकिस्तान के बीच शीत युद्ध चल रहा है लेकिन अटारी एक्सप्रेस से यात्रा करने वाली महिलाएं तक एक देश को मायके मानती हैं तो दूसरे देश को अपना ससुराल समझती हैं।

पुलवामा में 40 भारतीय सैनिकों की आतंकवादी घटना के दूसरी यात्रा करने वाली अटारी एक्सप्रेस मंगलवार को पुरानी दिल्ली स्टेशन पहुंची। इस ट्रेन में कुल 86 यात्रियों में से 14 पाकिस्तान मूल के थे। भारत पाकिस्तान के बीच तनातनी के बीच स्टेशन पहुंची ट्रेन के कई यात्रियों के साथ रिश्तेदारों की मुलाकात के बाद गले मिलकर खुशी जताई तो कईयों ने अपनी भावनाओं को अलग अलग व्यक्त किया।

पुलवामा की आतंकवादी घटना की छाया

पुलवामा की आतंकवादी घटना की छाया से उबरते हुए महिलाअेां ने भारत व पाकिस्तान दोनों को अपना घर बताया।आखिरी बार वर्ष 1991 के बाद अपने बेटे के साथ भारत आई सलमा ने कहा कि पाकिस्तान उनका ससुराल है तो भारत मायका। उन्होंने कहा कि कौन होगा जो जिसे घर वापसी आना पसंद नहीं होगा। वह अपनी बड़ी बहन से गले मिलकर रोने लगी। उनकी आखिरी इच्छा अपनी मां से मिलना था जो जिसकी कुछ दिनों पहले ही मौत हो गई।उन्होंने कहा कि यह तो किसी बच्चे से यह पूछना कि क्रिकेटर एमएस धोनी और शाहिद अफरीदी में से कौन पसंद है। ट्रेन के दिल्ली पहुंचने पर कई यात्री आतंकी घटना के बाद दुविधा में भी दिखे।

ताजा खबरें पढ़ने लिए क्लिक करें ~ परीक्षा देने जा रहे हैं तो रखें इन बातों को ध्यान!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *