इस लड़की ने दिखाई हिम्मत-स्वाति मालीवाल

नई दिल्ली (खबर संसार)। एक बच्ची ने खुद एक आदमी की मदद से चोरी से शिकायत दर्ज करवाई गई थी कि उसकी शादी उसके नाना-नानी जबरदस्ती करवा रहे हैं।जब बच्ची को रेस्क्यू करने के लिए पुलिस सहित टीम इलाके में पहुंची तो उन्हें लड़की के मामा और आस-पास के लोगों के विरोध का सामना भी करना पड़ा लेकिन किसी तरह उसके घर से लड़की को रेस्क्यू करवा लिया गया। फिलहाल लड़की को मेडिकल जांच के बाद बाल कल्याण समिति के समक्ष पेश किया गया जहां से उसको शेल्टर होम भेज दिया जाएगा।

आयोग ने बताया कि पुलिस थाने में लड़की बहुत डरी हुई थी, उसने बताया कि उसका असली नाम कुछ और है उसने ज्योति नाम केवल फोन करने के लिए इस्तेमाल किया था।लड़की का कहना था कि वह कर्नाटक से है और मां-पिता की मृत्यु के बाद अपने नाना-नानी और मामा के साथ रहती है। कुछ समय पहले उसको पता चला कि उसके मामा उसे 19 अप्रैल को कर्नाटक ले जाने की योजना बना रहे हैं ताकि वो उसकी शादी अपने जान पहचान के आदमी से करा सकें जोकि उम्र में उससे बहुत बड़ा है। उसने इसका विरोध किया लेकिन कोई सहायता ना मिलने पर आयोग की हेल्पलाइन पर अजनबी व्यक्ति के फोन से कॉल किया।

लड़की ने दिखाई हिम्मत-स्वाति मालीवाल

आयोग की अध्यक्षा स्वाति मालीवाल ने कहा कि यह बहुत प्रशंसा की बात है कि लड़की ने अपने परिवार से लडऩे और आयोग की महिला हेल्पलाइन पर फोन करने की इतनी हिम्मत दिखाई। हम यह भी सुनिश्चित करेंगे कि लड़की के रिश्तेदारों पर उसकी जबरदस्ती शादी कराने के लिए एफआईआर दर्ज हो।लड़की ने टीम को किया इशारा

लड़की ने अपना नाम ज्योति बताया था, जिसकी वजह से टीम को तलाशने में समय लगा। हर घर में पूछताछ के बाद भी ज्योति नाम की कोई लड़की नहीं मिली।एक जगह सार्वजनिक पानी की टंकी के पास पानी भर रही लड़की ने से जब टीम ने बातचीत की तो उसने इशारे से खुद को ज्योति बताते हुए अपने घर की ओर इशारा किया और पानी भरती रही। आयोग की टीम ने भी तब तक तलाशी का दिखावा किया जब तक पुलिस वहां पहुंच नहीं गई।

ताजा खबरें पढ़ने लिए क्लिक करें  कोहली और एबी डिविलियर्स के अर्धशतकीय प्रयासों पर पानी फेरा !

ताजा खबरों के लिए चैनल को सब्सक्राइब करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *