जेट एयरवेज के शेयर 30 प्रतिशत तक टूटें, निवेशकों का डूबा 800 करोड़

नई दिल्ली। जेट एयरलाइन के संकट का असर गुरुवार को शेयर बाजार में देखने को मिला। कारोबार के दौरान जेट एयरवेज के शेयर करीब 30 फीसदी तक टूट गए। इस वजह से निवेशकों के 800 करोड़ रुपये से ज्यादा डूब गए हैं।

यह इस लिए हुआ क्योंकि जेट एयरवेज के बंद होने का खतरा बढता जा रहा है। ऐसे में जेट प्राइवेट एयरलाइन को बीते बुधवार को बैंकों द्वारा इमरजेंसी फंड की मदद के इनकार के बाद अपनी सभी विमान सेवाएं अस्थायी रूप से बंद कर दी हैं। जिससे शेयर बाजार से निवेशकों का पैसा डूब गया।

शेयर बाजार के शुरुआत में जेट एयरवेज का शेयर 217.70 रुपये के भाव पर खुला। कारोबार के कुछ ही मिनटों में जेट एयरवेज के शेयर में करीब 30 फीसदी की गिरावट आई और यह 168.60 रुपये के भाव पर आ गया। इस भाव पर आते ही जेट एयरवेज का मार्केट कैप 1916 करोड़ रह गया। इसका मतलब यह हुआ कि चंद मिनटों में 833 करोड़ रुपये निवेशकों की दौलत घट गई।

नियमों के तहत की जाएगी कार्रवाई: नागर विमानन महानिदेशक

इस बीच नागर विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने गुरुवार को कहा कि जेट एयरवेज के परिचालन बंद करने के बाद वह नियमों के तहत कार्रवाई करेगा। डीजीसीए का कहना है कि परिचालन दुबारा शुरू करने में हर संभव मदद की जाएगी।नियामक के मुताबिक, “जेट एयरवेज के 17 अप्रैल 2019 के बाद परिचालन अस्थायी तौर पर ठप करने के फैसले के बाद डीजीसीए संबद्ध नियमों के तहत प्रक्रियाओं का पालन करते हुये कार्रवाई करेगा।

ताजा खबरों के लिए क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *