महाशिवरात्रि पर मंदिरों में लगी रही श्रद्धालुओं की लम्बी-लम्बी लाइनें

हल्द्वानी (खबर संसार)| हल्द्वानी के आसपास के इलाकों में आज महाशिवरात्रि का पर्व बड़ी धूमधाम से मनाया गया श्रद्धालु और भक्त गणों ने मंदिर में लंबी लंबी लाइनों में लगकर अपने शिव को प्रसाद चढ़ाने के लिए आतुर दिख रहे थे उन्हें अपने कष्टों का कोई नहीं हो रहा| दिन भर मंदिर के बाहर लंबी लंबी लाइन भक्तो की लगी रही।

वही, महाशिवरात्रि पर देश के द्वादस ज्‍योतिर्लिंगों में से एक बाबा विश्‍वनाथ के दर्शन को काशी में जनसैलाब शाम से ही उमड़ पड़ा। आस्‍था के उफान का आलम यह था कि कतार दशाश्वमेध घाट स्थित गंगा तट तक जा पहुंची। महाशिवरात्रि से पहले ही देश विदेश से भक्तों का रेला काशी पहुंच चुका था। सोमवार सुबह 11 बजे तक मंगला आरती के बाद से एक लाख से अधिक लोग बाबा दरबार में दर्शन पूजन कर चुके थे। वहीं पंचक्रोशी परिक्रमा के लिए भी लाखों की भीड़ उमड़ी और हर हर महादेव की काशी की गलियां गूंज उठीं।

विश्वनाथ मंदिर में भक्ति की गंगा बही

श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर में भक्ति गंगा ही बही। रविवार सुबह से ही दिन-रात दर्शन के बाद भी पांच किलोमीटर  दायरे में दर्शनार्थियों का रेला उमड़ा। कतार का एक सिरा मैदागिन, लक्सा तो तीसरा दशाश्वमेध घाट को छूता रहा। भोर में मंगला आरती के बाद सुबह नौ बजे तक एक लाख से अधिक भक्तों ने दर्शन कर लिया।

हालांकि गर्भगृह में प्रवेश के बज य बाहर से ही दर्शन व्यवस्था के कारण बाबा का जलाभिषेक व पुष्प पत्र न अर्पित कर पाने का श्रद्धालुओं को अफसोस रहा। इसके लिए मंदिर प्रशासन को लोग कोसते भी रहे। कैथी के मार्कंडेय महादेव, हरहुआ रामेश्वर महादेव, रोहनिया शूल टंकेश्वर महादेव मंदिर समेत शहर से लेकर गांव तक शिव भक्तों का रेला उमड़ता रहा। इसमें पंचक्रोसी यात्रियों ने भी बाबा की नगरी भक्ति गंगा को विस्तार दिया।

ताजा खबरें पढ़ने लिए क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *