पीठासीन अधिकारियों व मतदान अधिकारियों को दिया गया प्रशिक्षण

हल्द्वानी, खबर संसार। पंचायत चुनाव को त्रुटिहीन तरीके से सम्पन्न कराने के लिए लगाए गए पीठासीन अधिकारियों तथा मतदान अधिकारी सरगम सिनेमा हाॅल में पहला प्रशिक्षण दिया गया।

मुख्य विकास अधिकारी एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी विनीत कुमार ने कहा कि निर्वाचन कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही की कोई भी गुंजाईश नहीं है। इसलिए कार्य को पूरी पारदर्शिता, निष्पक्षता, स्वतन्त्रता एवं समयबद्ध तरीके से सम्पन्न कराना सुनिश्चित करें। श्री कुमार ने कहा कि सभी कार्मिक अपने कार्यों एवं दायित्वों में पूर्ण दक्षता हासिल करें ताकि मतदान प्रक्रिया के दौरान किसी भी प्रकार की समस्या उत्पन्न न हो सके।

उन्होंने सभी कार्मिकों को पूरी निष्पक्षता, पारदर्शिता से आयोग द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का अनुपालन करने एवं नियमानुसार कार्यवाही करने को कहा। उन्होने कहा कि निर्वाचन कार्य मे किसी भी प्रकार की उदासीनता व लापरवाही ना करें अन्यथा आयोग के निर्देशानुसार कड़ी कार्यवाही अमल मे लाई जायेगी। उन्होंने सभी कार्मिकों को पूरी विनम्रता एवं शालीनता से अपने कार्यों एवं दायित्वों का निर्वहन करने के निर्देश दिए। उन्होने मतदान हेतु ड्यूटी मे लगाये गये सभी पीठासीन एवं मतदान अधिकारियों से कहा कि वह मतदान कार्य पूरी निष्ठा, तत्परता एवं निष्पक्षता के साथ सम्पन्न करायें। सभी कर्मी आयोग के दिशा निर्देशो का भली भांति अध्ययन कर, मतदान के दौरान उसका अनुपालन सुनिश्चित करें।

कुमाऊॅ विश्व विद्यालय के रजिस्ट्रार एवं नोडल अधिकारी प्रशिक्षण डाॅ.महेश कुमार, प्रभारी अधिकारी प्रशिक्षण अखिलेश शुक्ला ने बताया कि निर्वाचन आयोग द्वारा मतदान प्रक्रिया हेतु प्रातः 8 बजे से सांय 5 बजे तक का समय निर्धारित किया गया है।केन्द्र में धूम्रपान तथा मोबाईल फोन का उपयोग वर्जित रहेगा तथा 3 बजे के बाद किसी भी दशा में मतदेय स्थलों पर मतदान अभिकर्ताओं को बदला नहीं जा सकेगा।

मतदान केन्द्र के 100 मीटर की परिधि में धारा 144 प्रभावी रहेगी

मतदान केन्द्र के 100 मीटर की परिधि में धारा 144 प्रभावी रहेगी तथा मतदान स्थल के आस-पास मैगा फोन एवं लाउडस्पीकर का प्रयोग भी वर्जित रहेगा। उन्होंने बताया कि इस बार त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में मतदान हेतु आयोग द्वारा 25 प्रकार के दस्तावेज पहचान हेतु निर्धारित किये गये हैं। उन्होंने बताया कि सदस्य ग्राम पंचायत पद पर मतदान हेतु मतपत्र सफेद रंग का, ग्राम प्रधान पद हेतु मत पत्र हरे रंग का, सदस्य क्षेत्र पंचायत पद के लिए नीला व सदस्य जिला पंचायत पद के लिए गुलाबी रंग का मतपत्र प्रयोग होगा। उन्होंने बताया कि सदस्य ग्राम पंचायत व ग्राम प्रधान पद के बैलेट पेपर मतपत्र पेटिका-1 में तथा सदस्य क्षेत्र पंचायत व जिला पंचायत के मतपत्र पेटिका-2 में डाले जायेंगे।

उन्होंने पीठासीन अधिकारियों एवं मतदान कार्मिकों के कार्य एवं दायित्वों, मतपत्रों को जारी करने की तैयारियों एवं सावधानियों, मतदान की गौपनीयता, मतपेटी को खोलना एवं सीलबन्द करना, मतदान अभिकर्ता के कार्य एवं दायित्व, टेण्डर वोट, चैलेंजिंग वोट, मतदान शुरू करने व समाप्ति की घोषणा, मतदान स्थगन की विभिन्न परिस्थितियाॅ, मतपत्र लेखा तैयार करने के बारे मे विस्तार से सैद्वान्तिक एवं व्यवहारिक प्रशिक्षण दिया गया। उन्होने कहा कि मतदान का जो समय निर्धारित है।

उसी समय सीमा मे मतदान प्रक्रिया सम्पन्न होनी है सायं 5 बजे के बाद कोई भी मतदाता लाईन मे नही लगेगा और 5 बजे अन्तिम मतदाता को पर्ची दे दी जाए, यदि निर्धारित समय के बाद लाईन में काफी मतदाता हैं जो कि पहले से लाईन में लगेे है ऐसे सभी मतदाताओं का मताधिकार प्रयोग करने का अवसर दिया जायेगा। लिहाजा 5 बजे तक लाईन मे लगे मतदाताओ की गिनती कर उन्हे लाईन में खड़े अन्तिम मतदाता से टोकन दिए जाए।

प्रशिक्षण कार्यक्रम में मुख्य शिक्षा अधिकारी केके गुप्ता, जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक हीरालाल गौतम, बेसिक गोपाल स्वरूप सहित सेक्टर एवं जोनल मजिस्ट्रेट, पीठासीन अधिकारी व मतदान कार्मिक आदि मौजूद थे।

ताजा खबरों के लिए क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *