आम चुनाम में वोटरों को रिझाने के लिए प्रियंका ने चुना ये मार्ग

प्रयागराज (खबर संसार)। उत्तर प्रदेश में वोटरों को साधने और रिझाने के लिए प्रियंका गांधी वाड्रा ने आम चुनाम में सफलता के लिए सडक़ मार्ग न चुनकर जल मार्ग चुना है, और खुद को गंगा की बेटी कहा है। स्टीमर में सवार होने से पहले प्रियंका ने पूजा अर्चना की उसके बाद वह मनैया घाट से स्टीमर के जरिए वाराणसी के लिए रवाना हो गईं।

इससे पूर्व पत्रकारों से बातचीत में प्रियंका गांधी ने कहा कि चौकीदार तो अमीर लोग रखते है, ऐसा कह कर उन्होंने सीधे- सीधे मोदी पर हमला किया। माना जा रहा है कि उनकी नजर मछुआरों और निषादों पर है और आज उन्होंने बकायदा नदी किनारे घाटों और दुकानों में जा जा कर लोगों से जनसम्पर्क किया।

प्रियंका के हाव-भाव और गतिविधियां आम आदमी को उनके बीच की दूरी खत्म कर रही है। प्रियंका ने स्टीमर में लाइफ जैकेट भी नहीं पहनी उनका कहना है था कि वो समुद्र में भी तैर सकती है। हांलाकि इसका मकसद माना जा रहा है कि मछुआरों और निषादों के बीच उनके जैसा दिखाने का प्रयास माना जा रहा है। दरअसल, गोरखपुर उपचुनाव के परिणामों के बाद निषाद सूबे में एक बड़ी ताकत बनकर उभरे हैं।

निषादों को अपने पाले में बनाए रखने के लिए बीजेपी भी जीतोड़ मेहनत कर रही है। योगी सरकार निषादराज की प्रतिमा बनवा रही है। प्रियंका गांधी की यह यात्रा आज से आज से केवट, मछुआरों और दूसरे आमजन के बीच 3 दिन तक संगम से काशी की गंगा यात्रा पर हैं। यात्रा 20 मार्च को वाराणसी में समाप्त होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *