शहर में कूड़ा निस्तारण के लिए डीएम ने अधिकारियों को दिए निर्देश

हल्द्वानी, खबर संसार। शहर में कूड़ा और उसके निस्तारण करने को लेकर नगर निगम हल्द्वानी के सभागार में जिलाधिकारी वीके सुमन ने अधिकारियों के साथ बैठक की जिसमे उन्होंने प्रोजेक्टर के साथ गहनता से विश्लेषण किया गया।

इससे पूर्व जिलाधिकारी की अध्यक्षता में नगर निगम में बैठक के एजेंडे पर बात हुई। ग्रामीण क्षेत्रों में ठोस पदार्थ अपशिष्ट को लेकर भी बातचीत की गई। जिलाधिकारी ने कूड़ा निस्तारण सहित साफ-सफाई को लेकर तथा साफ सफाई करने वाली एजेंसियों को अवश्यक दिशा दिए  निर्देश जारी किए।

श्री सुमन निर्देशित करते हुए कहा कि ठौस एवं तरल अपशिष्ट पदार्थों के प्रबन्धन हेतु धन की कोई कमी नहीं है, लिहाजा सभी ग्राम पंचायतों एवं क्षेत्र पंचायतों की बैठकें शीघ्रता से आयोजित कराते हु ठौस अपशिष्ट प्रबन्धन हेतु 15 दिनों के भीतर प्रस्ताव उपलब्ध कराने के निर्देश सभी खण्ड विकास अधिकारियों को दिए।

उन्होंने ठौस एवं तरल अपशिष्ट प्रबन्धन के कार्यों एवं सरकार द्वारा उपलब्ध करायी जा रही धनराशि के बारे में जनप्रतिनिधियों को जागरूक करने के लिए सभी विकास खण्डों में कार्यशालाएं आयोजित करने के निर्देश परियोजना निदेशक डीआरडीए बालकृष्ण तथा डीपीआरओ अतुल प्रताप सिंह को दिए।

उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा कि ठौस एवं तरल अपशिष्ट प्रबन्धन हेतु प्राप्त होने वाले प्रस्तावों एवं डीपीआर को प्राथमिकता से स्वीकृत करते हुए आगे की कार्यवाही अमल में लायी जाएगी। उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा कि ग्राम पंचायतों में बढ़ रही जन संख्या वृद्धि को ध्यान में रखते हुए प्रस्ताव एवं डीपीआर तैयार की जाए ताकि भविष्य में कोई कठिनाई न हो।

उन्होंने कहा कि कूड़े का उचित निस्तारण न होने के कारण बीमारियों के फैलने के साथ ही नालियों के बन्द हो जाने का भी अन्देशा रहता है, इस लिए सभी त्रिस्तरीय पंचायतों के जन प्रतिनिधि अपने कार्यकाल का मास्टर स्टाॅक खेलते हुए प्रभावी कार्य योजना एवं प्रस्ताव उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें।

उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा कि ग्राम पंचायतों में कूड़े का वैज्ञानिक पद्धति से निस्तारण हो तथा पंचायतें स्वस्थ व साफ रहें, इसके लिए जनता को जागरूक किया जाए तथा गीले एवं सूखे कूड़े के निस्तारण एवं अलग-अलग रखने के महत्व के बारे में भी विस्तार से जानकारी दी जाए।

बैठक में ब्लाॅक प्रमुख आनन्द सिंह दरम्वाल, आनन्द आर्य, जिला विकास प्राधिकरण के सचिव हरबीर सिंह, उप निदेशक सूचना योगेश मिश्रा, डीपीआरओ अतुल प्रताप सिंह, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ.भारती राणा, जिला पर्यटन अधिकारी अरविन्द गौड़, जिला शिक्षा अधिकारी प्रारंभिक गौपाल स्वरूप, खण्ड विकास अधिकारी एमएस रावत, जेआर आर्य, दिनेश सिंह दिगारी के अलावा अन्य अधिकारी मौजूद थे।

ताजा खबरों के लिए क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *