Uttarakhand

35 दिव्यांगजनो को मेडल, प्रशस्ती पत्र से सम्मानित किया

uttarakhand news रूद्रपुर, खबर संसार।  विश्व दिव्यांग दिवस पर समाज कल्याण विभाग ने कार्यक्रम आयोजित कर जिले के 35 दिव्यांगजनो को मेडल, प्रशस्ती पत्र, पांच-पांच हजार के चैक व ट्राई साइकिल देकर सम्मानित किया।

मौका था विश्व दिव्यांग दिवस का इस अवसर पर समाज कल्याण विभाग ने कार्यक्रम आयोजित कर उत्कृष्ट दिव्यांग कर्मचारियों, व्यक्तियों  एवं सोवायोजकों को राज्य स्तरीय दक्षता पुरस्कार प्रदेश के समाज कल्याण, परिवहन एवं अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री यशपाल आर्य जी ने आज कलक्टेट सभागार में जनपद के 19 दिव्यांगजन व वीडियों कांन्फ्रेन्सिंग के माध्यम से प्रदेश के अन्य जनपदों में भी 35 दिव्यांगजनो को जिन्होने राष्ट्रीय व अन्तराष्ट्रीय स्तर पर विभिन्न क्षेत्रों में महत्वपूर्ण उपलब्धियां अर्जित की है, उनको मेडल, प्रशस्ती पत्र, पांच-पांच हजार के चैक व ट्राई साइकिल देकर सम्मानित किया।

केन्द्र व प्रदेश सरकार ने दिव्यांगजनों की सहायता को योजनाएं शुरू की

उन्होने कहा कि केन्द्र व प्रदेश सरकार द्वारा दिव्यांगजनों के लिये विशेष सहायता के तौर पर कई योजनाएं शुरू की गयी है। उन्होने कहा कि हमे दिव्यांगों को यह अनुभव कराना चाहिये कि वे भी समाज के एक महत्वपूण अंग है।  उन्होने कहा कि सरकार की पहली प्राथमिकता है कि दिव्यांगजनों को सरकार द्वारा संचालित योजनाओं से जोडना है। उन्होने कहा कि दिव्यांगजनों को सहानुभूति नही अपितु सहयोग की आवश्यकता है जिस ओर सरकार लगातार कार्य कर रही है।

इस अभियान के तहत पुलिस ने इतने बच्‍चों को किया बरामद

उन्होने कहा कि दिव्यांगजनो के साथ कोई अन्याय या भेद-भाव होता है तो सम्बन्धित के खिलाफ 05 वर्ष तक कारावास का भी प्राविधान किया गया है। उन्होने कहा कि दिव्यांगजनों को समानता, शिक्षा, कौशल विकास, सामाजिक सुरक्षा, स्वास्थ्य पुनर्वास आदि के क्षेत्र में कार्य किया जा रहा है। उन्होने कहा कि राज्य में दिव्यांगजनो के कल्याणानार्थ वित्तय वर्ष 2020-21 में 122.14 करोड की धनराशि का प्राविधान किया गया है। राज्य में 18 वर्ष से अधिक ऐसे दिव्यांगजन जो बीपीएल श्रेणाी अथवा जिनकी वार्षिक आय 48 हजार से कम है तथा दिव्यांगता 40 प्रतिशत से ज्यादा ऐसे दिव्यांगजनों को मासिक 1200 रूपया पेंशन दी जा रही है। उन्होने कहा कि सरकार द्वारा 18 वर्ष तक दिव्यांग बच्चों को प्रति माह 700 रू0 दिव्यांग भरण-पोषण अनुदान दिया जाता है।

इसे भी पढ़े-  मोमबिनी शोरुम का भव्‍य शुभारम्भ संपन्न

उन्होने कहा कि दिव्यांग पेंशन सहित सभी प्रकार की पेंशनों में 200 रू0 की वृद्धि करते हुये 1200 रू0 मासिक पेंशन कर दी गयी है। उन्होने कहा कि दिव्यांगजनो हेतु क्षैतिज आरक्षण 03 प्रतिशत से बढाकर 04 प्रतिशत कर दिया गया है जिससे दिव्यांग शासकीय सेवा में भी अपना योगदान दे सकते है। उन्होने कहा कि दिव्यांग से विवाह करने पर प्रोत्साहन के रूप में 25 हजार की धनराशि दी जाती है जिसे और अधिक बढाने के लिये सरकार विचार कर रही है।

जनपद के दक्ष दिव्यांग कर्मचारी महेश कुमार, दक्ष दिव्यांग खिलाडी सुरेन्द्र सिंह रावत, कु0 किरण, राकेश कुमार, रितेश द्विवेदी, दक्ष जोशी, कु0 पूजा, मन्जीत सिंह, कु0 लक्ष्मी, अक्षम रूहेला,कु0 राधा, कु0 गंगावती, दिनेश कुमार, नाजिर हुसैन, कु0 उमा, कु0 अनुराधा, कु0 सुनीता व स्वरोजगार में रत दिव्यांग गुरदीप सिंह कामरा, विश्वनाथ को पांच-पांच हजार रूपये का चैक, मेडल व प्रशस्ती पत्र देकर मा0 मंत्री जी द्वारा सम्मानित किया गया। इसके साथ ही जनपद पौडी-02, टिहरी में-02, चमोली-01, उत्तरकाशी में 02, देहरादून में 12, हरिद्वार में 07, नैनीताल में 02, अल्मोडा में 03, पिथौरागढ में 02, चम्पावत में 02 दिव्यांगजनों को सम्मानित किया गया।

Related posts

1 comment

Leave a Comment