Wednesday, April 17, 2024
HomeInternationalचीन से डील के बाद बोले मुइज्जू 'मालदीव में नहीं रहेगा कोई...

चीन से डील के बाद बोले मुइज्जू ‘मालदीव में नहीं रहेगा कोई भारतीय सैनिक

मालदीव के राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज्जू ने कहा कि देश में 10 मई के बाद एक भी भारतीय सैन्य कर्मी मौजूद नहीं रहेगा, यहां तक की सादे कपड़ों में भी नहीं। मंगलवार (5 मार्च) को एक मीडिया रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है। मुइज्जू का यह बयान ऐसे समय में आया है जब करीब एक हफ्ते पहले भारत की टेक्नीकल टीम मालदीव पहुंची थी।

एक समाचार पोर्टल एडीशन डॉट एमवी ने बताया कि मइज्जू ने बा द्वीप के इधाफुशी आवासीय समुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि भारतीय सैनिकों को देश से बाहर निकालने में उनकी सरकार की सफलता के कारण झूठी अफवाहें फैला रहे लोग स्थिति को तोड़-मरोड़कर पेश कर रहे हैं। पोर्टल ने चीन समर्थक माने जाने वाले मुइज्जू के हवाले से कहा, ‘यह कहना कि ये लोग (भारतीय सेना) देश छोड़कर जा नहीं रहे हैं, वे सादे कपड़े पहनकर अपनी वर्दी बदलने के बाद वापस लौट रहे हैं। हमें ऐसे विचार नहीं लाने चाहिए जो हमारे दिलों में संदेह पैदा करें और झूठ फैलाएं।’

चीन के साथ मालदीव ने किया समझौता

मोहम्मद मुइज्जू ने कहा, ’10 मई के बाद देश में कोई भारतीय सैनिक मौजूद नहीं रहेगा। न ही वर्दी में और न ही सादे कपड़ों में। भारतीय सेना किसी भी तरह के कपड़ों में इस देश में नहीं रहेगी। मैं विश्वास के साथ यह कहता हूं।’ उन्होंने यह बयान ऐसे दिन दिया है मालदीव ने चीन के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं।

इसके तहत चीन मालदीव को निशुल्क सैन्य सहायता मुहैया करवाएगा। इससे पहले, पिछले महीने दो फरवरी को भारत और मालदीव के अधिकारियों के बीच दिल्ली में बैठक हुई थी। बैठक में मालदीव के विदेश मंत्रालय ने कहा था कि भारत मालदीव में अपने तीन विमानन प्लेटफॉर्म पर तैनात सैन्यकर्मियों को वापस बुला लेगा और उनकी जगह टेक्नीकल टीम भेजी जाएगी। इस प्रक्रिया का पहला चरण 10 मार्च तक पूरा किया जाएगा।

10 मई से पहले लौट सकते हैं भारतीय सैनिक

पांच फरवरी को संसद में दिए अपने पहले संबोधन में भी मोहम्मद मुइज्जू ने ऐसी ही टिप्पणियां की थीं। अभी भारत के 88 सैन्यकर्मी मालदीव में हैं, जो मुख्य रूप से दो हेलीकाप्टर और एक विमान का संचालन करने के लिए हैं। इनके जरिए सैकड़ों मेडिकल बचाव एवं मानवीय सहायता मिशन को पूरा किया गया है। एडीशन डॉट एमवी ने बताया कि देश छोड़कर जाने वाले पहले सैन्य कर्मी अद्दू सिटी में दो हेलीकॉप्टर का संचालन कर रहे भारतीय सैन्य कर्मी हैं। हा धालू द्वीप हनीमाधू और लामू द्वीप काहधू में मौजूद सैन्य कर्मियों के भी 10 मई से पहले मालदीव से जाने की संभावना है।

इस बीच, स्थानीय मीडिया में आयी खबरों में यह भी कहा गया है कि मालदीव ने मेडिकल बचाव मिशन के लिए विमानों का संचालन करने के लिए पिछले सप्ताह श्रीलंका के साथ सफलतापूर्वक समझौता किया है। इससे यह संकेत मिलता है कि वह सभी भारतीय सैनिकों को हटाने पर तुला है।

इसे भी पढ़े-मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने रानीबाग स्थित एचएमटी फैक्ट्री का निरीक्षण किया

हमारे फेसबुक पेज से जुड़ने के लिए क्लिक करें

RELATED ARTICLES
-Advertisement-spot_img
-Advertisement-spot_img

Most Popular

About Khabar Sansar

Khabar Sansar (Khabarsansar) is Uttarakhand No.1 Hindi News Portal. We publish Local and State News, National News, World News & more from all over the strength.