Uttarakhand

demolished ध्वस्त हो चुके प्राइवेट वार्ड के तीनों कक्षोें का निर्माण जल्‍द होगा

Haldwani, नैनीताल, खबर संसार। वर्षो पहले बने बीडी पाण्डे चिकित्सालय के प्राइवेट वार्ड के कक्ष ध्वस्त (demolished) चुके प्राइवेट वार्ड के तीन कक्षोें को बनाये जाने केे लिए जिलाधिकारी ने निर्देश दिया।

जिलाधिकारी सविन बंसल के बीडी पाण्डे चिकित्सालय का निरीक्षण किया। निरीक्षण  के दौरान बीडी पाण्डे चिकित्सालय के सीएमएस व मेडिकल स्टाफ द्वारा जिलाधिकारी के संज्ञान मे लाया कि वर्षो पहले बने प्राइवेट वार्ड के कक्ष ध्वस्त हो चुके हैं। पिछले 12 वर्षो से प्राइवेट वार्डो के कक्षों के निर्माण के लिए धनराशि की मांग की जाती रही है लेकिन कही से भी इन वार्डो के निर्माण के लिए कोई सकारात्मक पहल नही हो पा रही है।

demolished-चिकित्सकों के साथ ही मरीजो व तीमारदारों को होती थी परेशानी

इससे चिकित्सालय के चिकित्सकों के साथ ही मरीजो व तीमारदारों को कठिनाई हो रही है। मौजूदा समय मे केवल वार्डो के साईड ओर पिलर ही चिकित्सालय परिसर मे वर्षो से खडे है। इस तथ्य को गम्भीरता पूर्वक संज्ञान मे लेते हुये जिलाधिकारी ने आश्वासन दिया कि प्राइवेट वार्ड के तीन कक्षो का निर्माण हेतु धन की व्यवस्था उनके द्वारा अवश्य कराई जायेगी एवं सभी औपचारिकतायें जिला स्तर पर ही पूर्ण कराई जायेंगी। मौके पर मौजूद अधिशासी अभियन्ता लोनिवि को श्री बंसल ने प्राइवेट वार्ड के तीन कक्षोें को बनाये जाने हेतु आंगणन शीघ्र बनाने के निर्देश दिये।

कार्य की महत्ता को दृष्टिगत रखते हुये जिलाधिकारी ने त्वरित निर्णय लेेते हुये प्राइवेट वार्ड के तीन कक्षो के निर्माण के लिए 30 लाख की धनराशि जारी कर दी है। जिलाधिकारी की इस पहल से जल्द ही बीडी पाण्डे महिला चिकित्सालय में प्राइवेट वार्ड के कक्ष अस्तित्व मे आ जायेंगा। उन्होने कार्यदायी संस्था से कहा है कि इस महत्वपूर्ण निर्माण कार्य को गुणवत्ता के साथ आगामी तीन माह मे पूरा करें ताकि अधिकांश लोगों को इसका लाभ जल्द से जल्द मरीजो को मिल सके जिससे जन्म-मृत्यु दर कम होगी व संस्थागत प्रसव मे वृद्वि होगी तथा उपचार  हेतु लोगों को हल्द्वानी भी नही जाना पडेगा।

श्री बंसल का कहना है कि ऐसे जनहित के कार्य मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिह रावत की अभिप्रेरणा एवं मार्गदर्शन से सम्भव हो पा रहे है। धनराशि अवमुक्त होने से बीडी पाण्डे चिकित्सालय के चिकित्सकों एवं पैरामेडिकल स्टाफ मे जहां खुशी की लहर है  वही उनके आत्मविश्वास एवं कार्यक्षमता में वृद्वि होगी।  इससे पूर्व जिलाधिकारी द्वारा महिला चिकित्सालय मे रास्ता मरम्मत, चिकित्सालय सौन्दर्यीकरण, लेवर रूम व शिशुकक्ष, आईपीडी वार्ड सुदृढीकरण, आशाघर, चिकित्सालय के भीतर विद्युत लाइन मरम्मत एवं विद्युत संयोजन प्रतिस्थापन भी कराया गया।

ताजा खबरों के लिए क्लिक करें

Related posts

1 comment

Leave a Comment