Wednesday, February 21, 2024
spot_img
spot_img
HomeUttarakhandUCC ने कैसे जन्म लिया! कि दिलचस्प स्टोरी

UCC ने कैसे जन्म लिया! कि दिलचस्प स्टोरी

खबर संसार नई दिल्ली. UCC ने कैसे जन्म लिया! कि दिलचस्प स्टोरी.जी हा यूसीसी का जन्म अंग्रेजी शासन के समय का है बी एन राऊ के नेतृत्व में 1941 में कमेटी बनाई गई जिस तरह 27 फरवरी 2022 को सुप्रीम कोर्ट की जज रंजना देसाई के नेतृत्व में 5 लोगो की समिति बनी.और आज उत्तराखंड विधानसभा में इसको सर्वम्मति से पास कर कानून बनने की दिशा में राज्यपाल और उसके बाद राष्ट्पति की मोहर की औपचारिकता रहेंगी

UCC ने कैसे जन्म लिया! कि दिलचस्प स्टोरी

पाठको को बताये चले कि इसका जन्म भारत के इतिहास में समान नागरिक संहिता औपनिवेशिक भारत पर ब्रिटिश सरकार की 1835 की रिपोर्ट, जिसमें अपराधों, सबूतों और अनुबंधों के संबंध में भारतीय कानून के संहिताकरण में एकरूपता की आवश्यकता पर जोर दिया गया था और विशेष रूप से सुझाव दिया गया था कि हिंदुओं और मुसलमानों के व्यक्तिगत कानूनों को इस तरह के संहिताकरण से बाहर रखा जाना चाहिए।

समान नागरिक संहिता (यूसीसी) सबसे पहले सामने आई

ब्रिटिश शासन के अंत में व्यक्तिगत चिंताओं को संबोधित करने वाले कानून में वृद्धि के कारण सरकार को 1941 में हिंदू कानून को संहिताबद्ध करने के लिए बीएन राऊ समिति बनाने के लिए मजबूर होना पड़ा। इस मुद्दे की जांच करना कि क्या सामान्य हिंदू कानून आवश्यक हैं, हिंदू कानून समिति की जिम्मेदारी थी।समिति की सिफारिश के अनुसार, जो धर्मग्रंथों पर आधारित थी, हिंदू कानून के संहिताबद्ध संस्करण के तहत महिलाओं को समान अधिकार होंगे। 1937 अधिनियम की समीक्षा की गई, और समिति ने हिंदू विवाह और उत्तराधिकार के लिए एक नागरिक संहिता स्थापित करने का सुझाव दिया

समान नागरिक संहिता

एक देश एक नियम के अनुरूप है, जिसे सभी धार्मिक समुदायों पर लागू किया जाना है। ‘समान नागरिक संहिता’ शब्द का भारतीय संविधान के भाग 4, अनुच्छेद 44 में स्पष्ट रूप से उल्लेख किया गया है। अनुच्छेद 44 कहता है, “राज्य पूरे भारत में नागरिकों के लिए एक समान नागरिक संहिता सुनिश्चित करने का प्रयास करेगा.

इसे भी पढ़े :यूसीसी पर उत्तराखंड ने खींची लम्बी लाइन!https://khabarsansar.co.in/uttarakhand-drew-a-long-line-on-ucc/

RELATED ARTICLES

Most Popular

About Khabar Sansar

Khabar Sansar (Khabarsansar) is Uttarakhand No.1 Hindi News Portal. We publish Local and State News, National News, World News & more from all over the strength.