Uttarakhand

Pending दाखिल खारीज मामलों का निस्‍तारण जल्‍द करें अफसर

रूद्रपुर, खबर संसार। सभी अधिकारी अपने – अपने कार्यों को निर्धारित समय पर पूर्ण करें व उन्होने सभी तहसीलदारों को निर्देशित किया कि लम्बित (Pending) पड़े दाखिल खारीज आदि मामलों का निर्धारित समयान्तर्गत निस्तारण करें।

यह आदेश जिलाधिकारी श्रीमति रंजना राजगुरू की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में राजस्व से सम्बन्धित मासिक समीक्षा केे दौरान दी। जिसमें वसूली, चकबन्दी, भू-राजस्व, सिंचाई पर वसूली, विविध देय, राज्य कर, बैंको की वसूली, स्टाॅम्प, तालाब पुर्नजिवित आदि विभिन्न की कार्यों की समीक्षा की गई।

उन्होने कहा कि यदि किसी अधिकारी के स्तर पर कोई समस्या आती है तो वह तत्काल अपने वरिष्ठ अधिकारी को अवगत कराऐं ताकि कार्यों को दौरान आ रही समस्याओं का समाधान शीघ्रता से किया जा सके। जिलाधिकारी ने तहसील स्तर पर लम्बित (Pending) पड़े मामलों की विस्तृत रूप से जानकारी ली, उन्होने सभी उपजिलाधिकारी व तहसीलदारों को पूर्व में लम्बित (Pending) पड़े मामलों पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए शीघ्रता से उनके निस्तारण करने के निर्देश दिए।

किसी भी प्रकार की शिकायत न आए

उन्होने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि किसी अधिकारी के स्तर पर किसी भी प्रकार की शिकायत न आयें, यदि किसी के स्तर पर कोई शिकायत प्रकाश में आयी तो सम्बन्धित अधिकारी के खिलाफ आवश्यक कार्यवाही अमल में लाई जायेगी। उन्होने वसूली की समीक्षा करते हुऐ उपजिलाधिकारियों व तहसीलदारों को निर्देश दिए कि बकाया वसूली (Pending)में आमीनों का लक्ष्य निर्धारित करें, व निर्धारित किए गये लक्ष्य के सापेक्ष आमीन शत-प्रतिशत लक्ष्य पूर्ण करें, ताकि वसूली में और तेजी लाई जा सके।

उन्होने कहा कि यदि किसी भी कर्मचारी/अधिकारी के स्तर पर कोई लापारवाही सामने आई तो सम्बन्धित के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जायेगी।

इसे भी पढ़े- Elon Musk की घोषणा अब ऐसे खरीद सकतेे है टेस्ला की गाड़ियां

राज्य कर की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि राज्य कर व तहसील आपस में समन्व्य बना के कार्य करें ताकि वसूली के प्रतिशत को और बढ़ाया जा सके। उन्होने जिन तहसीलों में वसूली का प्रतिशत कम पाया गया उनको वसूली में तेजी लाने के कड़े निर्देश दिए। उन्होने कहा कि सभी अधिकारी अपने अधीनस्थों के कार्यों की प्रतिदिन समीक्षा करें, जिससे कार्यों में आने वाली समस्याओं का निस्तारण समय से किया जा सके।

उन्होने उपजिलाधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि सम्बन्धित अपने अधीनस्थों के साथ क्षेत्र में जाकर सरकारी भूमि चिन्हित करें ताकि सरकारी भूमि पर किसी प्रकार का कोई अतिक्रमण न हो। इस अवसर पर एडीएम उत्तम सिंह चैहान, जगदीश चन्द्र काण्डपाल, ओसी एन एस नबियाल, संयुक्त मजिस्टेªट विशाल मिश्रा, गौराव कुमार, एसडीएम निर्मला बिष्ट, मुक्ता मिश्रा, एपी बाजपेयी, सुन्दर सिंह सहित तहसीलदार आदि उपस्थित थे।

Related posts

Leave a Comment