Wednesday, February 28, 2024
spot_img
spot_img
HomeUncategorizedSony-Zee Merger पर लगा ब्रेक, इन आरोपों के कारण जापानी टूटी डील

Sony-Zee Merger पर लगा ब्रेक, इन आरोपों के कारण जापानी टूटी डील

सोनी ग्रुप और ज़ी एंटरटेनमेंट के बीच एक बड़ी डील की योजना बनाई गई थी लेकिन रद्द कर दी गई। ज़ी और सोनी के बीच अब कोई विलय नहीं होगा। इस अनुबंध समाप्ति से ज़ी एंटरटेनमेंट को तगड़ा झटका लगा। यह सौदा 10 अरब डॉलर का माना जा रहा था लेकिन अब रद्द कर दिया गया है। विलय टूटने के बाद, ज़ी के शेयर की कीमत 30% गिर गई।

अनुबंध समाप्ति के बाद, सोनी जापान ने अनुबंध पर हस्ताक्षर न करने का कारण भी बताया। कंपनी ने बताया कि उसे अपना व्यावसायिक निर्णय क्यों बदलना पड़ा। सोनी ग्रुप के मुताबिक, ज़ी एंटरटेनमेंट ने दोनों कंपनियों के बीच बनी वित्तीय शर्तों का पालन नहीं किया है।

प्रारंभ में, मीडिया रिपोर्टों के आधार पर, यह अनुमान लगाया गया था कि ज़ी एंटरटेनमेंट के सीईओ पुनीत गोयनका असफल विलय का मुख्य कारण थे। सोनी अपने नेतृत्व से खुश नहीं थी, लेकिन अब हमें बताया जा रहा है कि ऐसा नहीं है। हम आपको बता दें कि विलय रद्द करने के साथ ही सोनी ग्रुप ने जी एंटरटेनमेंट को नोटिस भी भेजा है.

सोनी ने 62 पन्नों का नोटिस भेजा है

इस नोटिस में कहा गया है कि ये डील तय समय में पूरी नहीं हो सकी है। इस डील को पूरा करने के लिए कई वित्तीय सीमाओं का पालन करना था जो नहीं किया गया है। सोनी ने 62 पन्नों का नोटिस भेजा है, जिसमें विलय के समझौतों से संबंधित कई शर्तों का भी उल्लंघन किया गया है। इन बदलावों को सुधारना संभव नहीं है। सोनी ग्रुप ने कहा कि इसमें सुधार की कोई गुंजाइश नहीं है।

वहीं जी ने बयान जारी कर कहा है कि उनकी ओर से किसी तरह की शर्त का उल्लंघन नहीं किया गया है। वहीं ये टर्मिनेशन सोनी की तरफ से गलत इरादे से किया गया है। इसके पीछे लीगल कारण भी है। बता दें कि डील रद्द होने के बाद जी एंटरटेनमेंट ने भी नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (एनसीएलटी) के समक्ष याचिका दर्ज की है।

इस मामले पर जी के मानद अध्यक्ष सुभाष चंद्रा ने भी काफी नाराजदी जताई है। उन्होंने मीडिया से बातचीत में कहा कि सोनी के खिलाफ कंपनी क्रिमिनल केस करने पर भी विचार कर रही है। सोनी की जो मंशा है उस पर भी सवाल खड़े किए गए है। बता दें कि सुभाष चंद्रा ने कंपनी के सीईओ पुनीत गोयनका को लेकर कहा कि वो सोनी की मांग के अनुसार अपना पद छोड़ने के लिए तैयार थे मगर फिर भी सोनी ने अंतिम समय में अपने हाथ इस डील से पीछे कर लिए है।

इसे भी पढ़े-मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने रानीबाग स्थित एचएमटी फैक्ट्री का निरीक्षण किया

हमारे फेसबुक पेज से जुड़ने के लिए क्लिक करें

RELATED ARTICLES

Most Popular

About Khabar Sansar

Khabar Sansar (Khabarsansar) is Uttarakhand No.1 Hindi News Portal. We publish Local and State News, National News, World News & more from all over the strength.