Thursday, April 18, 2024
HomeCrimeसंदेशखाली में तनाव! फूंक दी गई झोपड़ी, महिलाओं ने लगाए ये आरोप

संदेशखाली में तनाव! फूंक दी गई झोपड़ी, महिलाओं ने लगाए ये आरोप

जी हां, पश्चिम बंगाल के संदेशखाली में एक बार फिर तनाव की खबर है. आज बेरमजुर में हालात और खराब हो गए हैं क्योंकि कुछ स्थानीय महिलाओं ने मामले में फरार चल रहे शाहजहां शेख के भाई पर जमीन हड़पने का आरोप लगाया है.

जानकारी के मुताबिक, इसी दौरान कुछ लोगों ने पास की एक झोपड़ी में आग लगा दी. स्थानीय निवासियों का दावा है कि जमीन हड़पने वाले लोगों ने घर में आग लगा दी।

‘पीएम मोदी कर सकते हैं पीड़ित महिलाओं से मुलाकात’

बंगाल के बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने गुरुवार (22 फरवरी 2024) को संकेत दिया कि पीएम नरेंद्र मोदी 6 मार्च को बारासात में एक विशेष कार्यक्रम में संदेशखाली की प्रताड़ित महिलाओं से मुलाकात कर सकते हैं। सुकांत मजूमदार ने कहा, महिलाएं चाहेंगी तो इसकी व्यवस्था की जाएगी।

दो दिन पहले भी हुआ था काफी हंगामा

संदेशखाली में मंगलवार (20 फरवरी) को भी काफी हंगामा हुआ था। तब संदेशखाली केस में नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) की शुरुआती जांच बैठाई गई थी। इसी दिन भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के शुभेन्दु अधिकारी को कोलकाता पुलिस ने संदेशखाली जाने से रोक दिया था। वह धरने पर बैठ गए थे। बाद में कलकत्ता हाईकोर्ट ने उन्हें वहां जाने की इजाजत दे दी थी।

राष्ट्रीय महिला आयोग (एनसीडब्ल्यू) की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने भी 22 फरवरी को पुलिस पर कई गंभीर आरोप लगाए थे। उन्होंने कहा था कि पुलिस के काम में कोताही हो रही है। पुलिस सही से भूमिका नहीं निभा रही है। मैं जब गलियों में घूम रही थी तब एसपी साहब कुर्सी पर बैठे थे। वह समझना नहीं चाहते हैं।

क्या है संदेशखाली में इतने हंगामे की वजह?

संदेशखाली में 9 फरवरी से काफी बवाल हो रहा है। दरअसल, यह इलाका टीएमसी के नेता शाहजहां शेख के दबदबे वाला है। शाहजहां शेख राशन घोटाले में 5 जनवरी को ईडी की छापेमारी के दौरान टीम पर हुए हमले के बाद से फरार है। उसके फरार होने के बाद 8 फरवरी से स्थानीय महिलाओं ने शाहजहां शेख और उनके समर्थकों के खिलाफ प्रदर्शन शुरू किया।

महिलाओं ने आरोप लगाया कि शाहजहां शेख और उसके लोग महिलाओं का यौन शोषण भी करते थे। 9 फरवरी को प्रदर्शनकारी महिलाओं ने शाहजहां समर्थक हाजरा के तीन पोल्ट्री फार्मों को जला दिया। महिलाओं का दावा था कि वे स्थानीय ग्रामीणों से जबरन छीनी गई जमीन पर बने थे। पश्चिम बंगाल के राज्यपाल ने भी यहां का दौरा करने के बाद कहा था कि, संदेशखाली में स्थिति काफी गंभीर है।

इसे भी पढ़े-मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने रानीबाग स्थित एचएमटी फैक्ट्री का निरीक्षण किया

हमारे फेसबुक पेज से जुड़ने के लिए क्लिक करें

RELATED ARTICLES
-Advertisement-spot_img
-Advertisement-spot_img

Most Popular

About Khabar Sansar

Khabar Sansar (Khabarsansar) is Uttarakhand No.1 Hindi News Portal. We publish Local and State News, National News, World News & more from all over the strength.