Uttar Pradesh

लापरवाही: 4 days पहले हुई पिता की मौत, रोज जूस व फल लाता रहा बेटा

ट्रांसपोर्ट नगर महेन्द्र नगर के बच्चीलाल ने बताया कि उनके पिता मोतीलाल (82) की कोविड रिपोर्ट 12 अप्रैल को पॉजिटिव आई। 13 को उन्हें एसआरएन अस्पताल में भर्ती कराया। 16 और 17 को तालाबंदी के कारण वे अस्पताल नहीं आ पाए। 18 को जूस और फल लेकर गए तो बताया गया कि पिता ठीक हैं उन्हें बेड नंबर 37 से 9 नंबर पर शिफ्ट कर दिया गया है।

बुधवार को जब पहुंचे तो एक और तीमारदार आ गया। जिसे बच्चीलाल का पिता कहकर नौ नंबर पर शिफ्ट बताया जा रहा था, उसका असली बेटा यह तीमारदार था। संयोग यह था कि बच्चीलाल और उस शख्स के पिता का नाम एक ही था।

इसे भी पढ़े- कोरोना वैक्सीनेशन – 18 साल से ऊपर वाले शनिवार से यहां करवाएं registration

उस तीमारदार ने बच्चीलाल से कहा कि नौ नंबर पर तो मेरे पिताजी हैं। बच्चीलाल ने कहा कि नहीं वो मेरे पिता है। जब दोनों आशंकित हुए तो नर्स को बुलाया। नर्स ने नौ नंबर के मरीज को शीशे के सामने बुलाया तो वह आ गए। यह देख बच्चीलाल का माथा घूम गया। वह उनके पिता नहीं थे। फिर उन्होंने अपने पिता के बारे में पूछा तो कहा गया कि उन्हें दूसरे तल पर ले गए हैं, यहां नहीं हैं।

भटकते रहे बच्‍ची लाल

इसके बाद बच्चीलाल 9 से 11 बजे तक भटकते रहे लेकिन कोई कुछ नहीं बता सका। अधीक्षक के पास गए तो उन्होंने कहा जाइए ढूंढिए, वहीं होंगे जाएंगे कहां। काफी गिड़गिड़ाने पर एक आदमी को भेजा। उसने लौटकर जो बताया वो सुनकर बच्चीलाल का कलेजा बैठ गया। उसने कहा कि दूसरे तल में 16 अप्रैल को शिफ्ट किया गया था और 17 को सुबह 6.30 बजे (4 days) उनकी मौत हो गई थी। उनका अंतिम संस्कार भी हो चुका है।

Related posts

Leave a Comment