Friday, June 21, 2024
HomeUttarakhandकहीं भी पेयजल संकट न हो इस हेतु अधिकारी सक्रियता से कार्य...

कहीं भी पेयजल संकट न हो इस हेतु अधिकारी सक्रियता से कार्य करें : मुख्यमंत्री

काशीपुर, खबर संसार। सूबे के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा जनपद में कहीं भी पेयजल संकट न हो इस हेतु अधिकारी सक्रियता से कार्य करें व सभी पेयजल महकमे के अधिकारी अपने-अपने क्षेत्रों का नियमित भ्रमण करें व पेयजल सम्बंधित समस्याओं का समाधान करें।

उन्होंने कहा कि पेयजल लाइनों की लीकेज तुरन्त ठीक करायें व विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत निर्माणाधीन पेयजल योजनाएं हैं उन्हें त्वरित गति से कार्य करते हुए पूर्ण कराएं।उन्होंने कहा गर्मी का सीजन है इसीलिए शहरों में जन साधारण के शीतल पेयजल हेतु प्याऊ व वॉटर कूलर लगाए जाएं यह निर्देश मुख्यमंत्री श्री धामी ने अपने एक दिवसीय काशीपुर भ्रमण के दौरान काशीपुर स्पोर्ट्स स्टेडियम में अधिकारियों की बैठक लेते हुए दिए।

समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी उदय राज सिंह ने बताया कि बताया कि जनपद में 12,123 हेण्ड पम्प हैं जिसमें से 11,578 हेण्ड पम्प सुचारू है, तथा 545 हेण्ड पम्प खराब है जिन्हें शीघ्र ही ठीक कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि अर्बन क्षेत्रों में हेण्ड पम्प प्राथमिकता से बनाये जाएंगे, उन्होंने कहा कि जल जीवन मिशनके अंतर्गत 604  राजस्व ग्रामों हेतु  333 पेयजल योजनाएं बनाई जा रही हैं।

सभी योजनाओं के कार्य आगामी माह अगस्त तक पूर्ण कर लिए जाएंगे। उन्होंने बताया कि अमृत योजना के अंतर्गत नगर निगम काशीपुर में 6 जोनों के लिए सात नलकूप का निर्माण व 6 उच्च जलाशय के निर्माण किया जा रहा है जिसमें से 5 जोन कार्य पूर्ण कर जल संस्थान को हस्तांरित कर दिए गए हैं जबकि जोन 8 का योजना निर्माण पूर्ण हो चुका है, ट्रायल टेस्टिंग कार्य प्रगति पर हैं।

रुद्रपुर में 5 जोन में पेयजल योजना कार्य पूर्ण हो चुका है व जल आपूर्ति  सुचारू कर दी गई है

इसी तरह अमृत योजना के अंतर्गत नगर निगम रुद्रपुर में 5 जोन में पेयजल योजना कार्य पूर्ण हो चुका है व जल आपूर्ति  सुचारू कर दी गई है। योजना हस्तांतरण कार्य गतिमान है। उन्होंने बताया कि विश्व बैंक परियोजना के अंतर्गत नगर पालिका खटीमा के वार्ड नं 3, 4, 5 हेतु बन्डिया  पेयजल योजना कार्य पूर्ण कर पेयजल सुचारू कर दिया गया है तथा उमरू खुर्द पेयजल योजना व महुलिया पेयजल कार्य प्रगति पर है।

जिलाधिकारी ने बताया कि जनपद में 3 करोड़ के 17 आपदा न्यूनीकरण कार्य चिन्हित कर टेंडर कर दिए गए हैं तथा 51 बाढ़ आपदा न्यूनीकरण कार्य चिन्हित किये गए हैं इसके लिए उन्होंने 5 करोड़ धनराशि की मांग की गई है। उन्होंने कहा कि वर्षा काल से पूर्व बाढ़ आपदा न्यूनीकरण हेतु नदी-नालों की डी सिल्टिंग कार्य किया जा सके। जिलाधिकारी ने बताया कि जनपद में वनाग्नि के 65 मामले हुए जिन पर शीघ्र ही काबू पा लिया गया था।

नगर आयुक्त काशीपुर ने बताया कि नगर निगम काशीपुर में पानी की कोई समस्या नहीं है, 347 हेण्ड पम्प सुचारू है। उन्होंने बताया कि जनता को शुद्ध व शीतल पेयजल उपलब्ध कराने हेतु नगर निगम,  छत्री चौराहा, गैस गोदाम, चैती मोड़, टांडा तिराहा में वॉटर कूलर स्थापित किये गए हैं जबकि रोडवेज में शीघ्र वॉटर कूलर स्थापित किया जाएगा

बैठक में ये अधिकारी रहे मौजूद

उपजिलाधिकारी बाजपुर ने बताया कि बाजपुर क्षेत्र में पेयजल की समस्या नहीं है मगर वर्षाकाल में लेवड़ा नदी से बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हो जाती है इसीलिए उसकी डी- सिल्टिंग व तटबन्ध मरम्मत कार्य आवश्यक है। बैठक में एसएसपी मंजुनाथ टीसी, परियोजना निदेशक अजय सिंह, एएसपी अभय कुमार सिंह, उपजिलाधिकारी अभय प्रताप सिंह, गौरव चटवाल, राकेश तिवारी, सीओ अनुषा बडोला, नगर आयुक्त विवेक राय, उपयुक्त नगर रोहिताश शर्मा, अधीक्षण अभियंता पेयजल निगम मृदुला सिंह, अधिशासी अभियंता जल संस्थान तरुण शर्मा, डीएसटीओ नफील जमील, डीडीएमओ, उमा शंकर नेगी सहित अनेक अधिकारी उपस्थित थे।

इसे भी पढ़े-मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने रानीबाग स्थित एचएमटी फैक्ट्री का निरीक्षण किया

हमारे फेसबुक पेज से जुड़ने के लिए क्लिक करें

RELATED ARTICLES
-Advertisement-spot_img
-Advertisement-spot_img
-Advertisement-spot_img
-Advertisement-spot_img
-Advertisement-spot_img
-Advertisement-spot_img
-Advertisement-spot_img

Most Popular

About Khabar Sansar

Khabar Sansar (Khabarsansar) is Uttarakhand No.1 Hindi News Portal. We publish Local and State News, National News, World News & more from all over the strength.