International

महाभियोग से America में जबरदस्त गुस्सा, नहीं चाहता कोई हिंसा हो-ट्रंप

वॉशिंगटन, खबर संसार। अमेरिकी (America) राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने महाभियोग प्रस्ताव पर पहली बार चुप्पी तोड़ी है। उन्होंने कहा कि इस प्रस्ताव के कारण अमेरिका के लोगों में जबरदस्त गुस्सा है।

उन्‍होंने कहा मैं नहीं चाहता कि कोई हिंसा हो। आज अमेरिकी (America) संसद में ट्रंप के खिलाफ लाए गए महाभियोग के प्रस्ताव पर वोटिंग होनी है। अमेरिकी संसद यूएस कैपिटल पर ट्रंप समर्थकों के हमले के बाद से ही कई रिपब्लिकन सांसद भी अपनी ही पार्टी के राष्ट्रपति के खिलाफ बताए जा रहे हैं।

हम चाहते हैं कि कोई हिंसा न हो

ट्रंप ने मेक्सिको की सीमा पर बन रहे दीवार का निरीक्षण करने के लिए टेक्सास रवाना होने से पहले कहा कि वे जो कर रहे हैं, यह वास्तव में बहुत भयानक बात है। हम चाहते हैं कि कोई हिंसा न हो। कभी हिंसा न करें।

ट्रंप का सीधा इशारा हाल में ही एफबीआई और यूएस नेशनल गार्ड की हिंसा के आशंका वाले बयान के तरफ है। आज ही ट्रंप ने राजधानी वॉशिंगटन में 24 जनवरी तक के लिए आपातकाल का ऐलान किया है।

आज जैसे ही अमेरिकी (America) संसद की कार्यवाही शुरू होगी वैसे ही सदन उपराष्ट्रपति माइक पेंस और कैबिनेट को राष्ट्रपति ट्रंप को सत्ता से हटाने के किए अनुरोध करेगा।

इसे भी पढ़े- India पाकिस्‍तान को छोड़ सभी पड़ोसी देशों को प्राथमिकता के आधार पर वैक्‍सीन देगा

हालांकि, इस बात की संभावना बेहद कम है कि माइक पेंस राष्ट्रपति (America) ट्रंप के खिलाफ अमेरिकी संविधान के 25वें संशोधन का उपयोग करेंगे। जिसके तहत किसी पदस्थ राष्ट्रपति को कार्यकाल खत्म होने से पहले ही पद से हटाया जा सकता है।

अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की स्पीकर नैन्सी पेलोसी के नेतृत्व में डेमोक्रेटिक सांसद पहले ही विद्रोह को उकसावा देने के लिए ट्रंप के खिलाफ महाभियोग के प्रस्ताव को पेश कर चुके हैं।

फेसबुक पेज से जुड़े

Related posts

Leave a Comment