National

मां, माटी, मोदी और मतुआ का घालमेल क्‍या गुल खिलायेगा Bengal elections में

कोलकाता, खबर संसार। पश्चिम (Bengal elections) में जहां एक तरफ आज पहले चरण की वोटिंग हो रही है। तो वहीं दूसरी तरफ मोदी बाग्‍ला देश में मतुआ समाज को लुभाने के लिए उनके बीच में मौजूद है। बताते चले की आज बांग्‍ला देश अपनी आजादी की 50वीं वर्षगाठ मना रहा है।

इसको चुुुुनाव के नजरिये से महत्‍वपूर्ण माना जा रहा है। इससे पूर्व बताते चले कि पश्चिम बंगाल (Bengal) में विधानसभा चुनाव के पहले चरण में 30 सीटों के लिए कड़ी सुरक्षा के बीच शनिवार सुबह सात बजे से ही मतदान जारी है। कुछ जगहों पर हिंसा की भी खबरें आई हैं, वहीं भाजपा और टीएमसी ने एक दूसरे पर वोटिंग को प्रभावित करने का आरोप लगाया है।

वोटिंग प्रतिशत को लेकर टीमसी ने की शिकायत

इन सबके बीच वोटिंग प्रतिशत में अनियमितता लेकर टीएमसी ने चुनाव आयोग से गंभीर शिकायत की है। बंगाल (Bengal) में वोटिंग फीसदी अचानक कम हो जाने को लेकर तृणमूल कांग्रेस ने मेल के जरिए चुनाव आयोग से इसकी शिकायत दर्ज कराई है।

तो वहीं, तृणमूल कांग्रेस ने अपनी शिकायत में कहा है कि कांठी दक्षिण (216) और कांठी उत्तर विधानसभा क्षेत्र (213) में 9.13 बजे वोटिंग फीसदी 18.47 और 18.95 फीसदी था। मगर चार मिनट के बाद यानी 9.17 बजे वोटर टर्नआउट कम होकर क्रमश: 10.60 फीसदी और 9.40 फीसदी हो गया। बता दें कि सुबह नौ बजे तक बंगाल में 7.72 फीसदी मतदान हुआ था।

कुछ जगहों पर हिंसा की खबरों को छोड़ दिया जाए तो अब तक पहले चरण का मतदान शांतिपूर्ण तरीके से चल रहा है। हालांकि, पश्चिम मिदनापुर के भाजपा उम्मीदवार समित दास ने टीएमसी कार्यकर्ताओं पर अशांति फैलाने का आरोप लगाया है। वोट डालने के बाद उन्होंने कहा कि मिदनापुर शहर में मतदान सुचारू रूप से चल रहा है।

लेकिन, ग्रामीण इलाकों में कुछ जगहों पर टीएमसी कार्यकर्ता अशांति पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं। बूथ नं. 266 और 267 पर 7-8 टीएमसी कार्यकर्ताओं ने मतदाताओं को प्रभावित करने के लिए बूथ में प्रवेश किया। हमने चुनाव आयोग से शिकायत की है।

फेसबुक पेज से जुडे

Related posts

Leave a Comment