National

Mansukh को क्लोरोफॉर्म सुंघाकर बेहोश किया फिर की हत्‍या

मुंबई, खबर संसार। मनसुख हिरेन (Mansukh) की मौत के मामले में हर दिन नए खुलासे हो रहे हैं। मुंबई की एंटी टेररिज्म स्क्वॉड ( ATS) ने इस गुत्थी को सुलझा लेने का दावा किया है। उसका कहना है कि हिरेन की हत्या में कुल चार लोगों के शामिल होने के सबूत मिले हैं।

इनमें से 3 गिरफ्तार किए जा चुके हैं। सूत्रों के मुताबिक, इस बात का खुलासा बुधवार को ठाणे कोर्ट के आदेश के बाद NIA को सौंपी रिपोर्ट में हुआ है। पड़ताल के दौरान ATS को यह भी पता चला है कि मनसुख (Mansukh) को क्लोरोफॉर्म सुंघाकर बेहोश किया गया और फिर आराम से उसकी सांस को रोककर उसकी हत्या की गई। हत्या के वक्त सचिन वझे भी मौके पर मौजूद था। ATS को उसकी मोबाइल लोकेशन से इसके पुख्ता सबूत मिले हैं।

मारने के बाद चेहरे पर बांधे रुमाल
सूत्रों की मानें तो मनसुख (Mansukh) के चेहरे पर बंधे पांच रुमालों में क्लोरोफॉर्म डाला गया था और माना जा रहा है कि सांस रोकने के बाद आरोपी कोई चांस नहीं लेना चाहते थे, इसलिए उन्होंने रुमाल को मनसुख के चेहरे पर बांध कर पानी में फेंका था।
हालांकि, चेहरे पर बंधे रुमालों को देखकर ही यह अंदेशा लगाया जा रहा था कि मनसुख (Mansukh) की हत्या हुई है और उन्होंने सुसाइड नहीं किया है। ATS को शक है कि मनसुख हिरेन की हत्या जब्त की गई इन कारों में से किसी एक में की गई थी। इसके बाद उसकी लाश को खाड़ी में फेंक दिया गया।

ATS ने इन धाराओं में दर्ज किया है केस
ATS ने मनसुख हिरेन (Mansukh) की मौत के मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 (हत्या), 201 (साक्ष्य मिटाने), 120 बी (आपराधिक षड्यंत्र) और 34 (साझा मंशा) के तहत मामला दर्ज किया है।

Related posts

Leave a Comment