Tuesday, January 18, 2022
HomeBusinessमार्क जुकरबर्ग ने बदला Facebook का नाम अब इस नाम से जाना...

मार्क जुकरबर्ग ने बदला Facebook का नाम अब इस नाम से जाना जाएगा फेसबुक

वॉशिंगटन, खबर संसार। दुनिया में एक अपनी अलग की पहचान बनाने वाले सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक (Facebook) ने अपना नाम बदल दिया है। वह अब अपने नए नाम से जाना जायेगा। उसका नाम मेटा (Meta) हो गया है।

पिछले कुछ वक्त से लगातार ऐसी खबरें थीं कि फेसबुक (Facebook) री-ब्रांडिंग करने वाला है। कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी मार्क जकरबर्ग ने गुरुवार को कंपनी के सलाना कार्यकम्र में इसकी घोषणा की। जुकरबर्ग ने गुरुवार को फेसबुक के वार्षिक सम्मेलन में इसकी घोषणा की, जहां उन्होंने मेटावर्स के लिए अपने विजन के बारे में भी बताया।

मेटावर्स मोबाइल इंटरनेट की जगह ले लेगा

जुकरबर्ग ने कहा हमारे ऊपर एक डिजिटल दुनिया बनी है, जिसमें वर्चुअल रिएलिटी हेडसेट और एआई शामिल है। हम मानते हैं कि मेटावर्स मोबाइल इंटरनेट की जगह ले लेगा। नई होल्डिंग कंपनी मेटा फेसबुक (Facebook), इसकी सबसे बड़ी सहायक कंपनी, साथ ही इंस्टाग्राम, व्हाट्सएप और वर्चुअल रियलिटी ब्रांड ओकुलस जैसे ऐप को शामिल करेगी।

फेसबुक ने मेटावर्स प्रोजेक्ट में 2021 में 10 बिलियन डॉलर का निवेश किया था। हाल ही में जारी की गई अर्निंग रिपोर्ट में, कंपनी ने घोषणा की थी कि उसका वर्चुअल रियलिटी सेगमेंट इतना बड़ा हो गया है कि अब वह अपने उत्पादों को दो श्रेणियों में विभाजित कर सकता है।

इसे भी पढ़े-हाय महंगाई : 2025 तक सरकार ने सुनाया कम खाने का फरमान!

नाम बदलने के साथ ही कंपनी में रोजगार के भी अवसर बढ़ने वाले हैं। कंपनी ने घोषणा की थी कि मेटावर्स के लिए उसे हजारों लोगों की जरूरत है। फिलहाल कंपनी 10 हजार लोगों को रोजगार देने की तैयारी में है। उन श्रेणियों में फेसबुक, इंस्टाग्राम, मैसेंजर और व्हाट्सएप सहित “फैमिली ऑफ एप्स” और एआर और वीआर के साथ-साथ किसी भी संबंधित हार्डवेयर सहित “रियलिटी लैब” उत्पाद शामिल हैं।

2004 में जुकरबर्ग ने कही थी ये बात

2004 में फेसबुक (Facebook) बनाने वाले मार्क जुकरबर्ग ने कहा था कि फेसबुक का भविष्य मेटावर्स कॉन्सेप्ट में है। मेटावर्स मतलब एक वर्चुअल-रियलिटी स्पेस, जिसमें यूजर कंप्यूटर से जेनरेट किए गए वातावरण में एक दूसरे से कनेक्ट कर पाएं। कंपनी का ऑकुलस वर्चुअल रियलिटी हेडसेट्स और सर्विसेज उसी सोच को साकार करने का माध्यम है। जुकरबर्ग ने जुलाई में एक बार कहा था कि वह चाहते हैं कि आने वाले वर्षों में लोग उन्हें सोशल मीडिया कंपनी की बजाय एक मेटावर्स कंपनी की तरह देखें।

यूजर्स पर क्या होगा असर

फेसबुक के इस ऐलान से ओरिजिनल ऐप और सर्विस ज्यों की त्यों ही चलती रहेगी और इसमें कोई बदलाव नहीं होगा। ये कंपनी की री-ब्रांडिंग है और कंपनी के बाकी प्रॉडक्ट्स जैसे कि वॉट्सऐप और इंस्टाग्राम को कंपनी के नए बैनर तले लाये जाने की योजना है। अभी तक कहा वॉट्सऐप, इंस्टाग्राम को फेसबुक के प्रॉड्क्ट्स कहा जाता है, लेकिन फेसबुक खुद एक प्रॉडक्ट है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

Most Popular

About Khabar Sansar

Khabar Sansar (Khabarsansar) is Uttarakhand No.1 Hindi News Portal. We publish Local and State News, National News, World News & more from all over the strength.